Press "Enter" to skip to content

जेम्स बोला – घर में घुसकर करेंगे हिन्दू महिलाओं का रेप, भारत में बढ़ता जा रहा मिशनरियों का आतंक

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें

इनको क्या किसी कानून का डर नहीं है . या इन्होने अपने अल्पसंख्यक नाम के मिले ठप्पे को एक हथियार के रूप में बना लिया है ? कभी कट्टरपंथी जेहादी तो अब मिशनरी सबके निशाने पर आ चुका है हिंदुत्व . वो हिंदुत्व जिसने कभी भी किसी भी को तंग नहीं किया वो हिंदुत्व जिसने सदा अपना बलिदान दे कर अक्सर दुनिया को पालने और पोषने का कार्य किया अब वही हिन्दू और हिंदुत्व सबके निशाने पर आ चुका है . ख़ास बात ये है कि उनके निशाने पर भी जो हिन्दुओं पर असहिष्णुता का आरोप लगाया करते हैं और आगे कर देते हैं अवार्ड लौटाने वालों को .


विदित हो कि एक बेहद ही आपराधिक और दुस्साहसिक घटना क्रम में सनातन संस्था के संस्थापक डॉ. आठवले जी की हत्या करने की धमकी एक जेम्स नाम के ईसाई चरमपंथी द्वारा दी गयी है . ; इस मामले को अपराध मान कर पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवाई गयी है … सनातन संस्था के मुख्य कार्यालय फोंडा, गोवा स्थित सनातन के आश्रम में सनातन संस्था के प्रवक्ता श्री. चेतन राजहंस के नाम कल सवेरे एक धमकी भरा पत्र डाक से मिला । जेम्स अण्णामलाई नामक ईसाई व्यक्ति ने अपने सचल दूरभाष क्रमांक (मोबाइल नंबर) के साथ यह पत्र भेजा है ।




पत्र में लिखा है, ”मेरा नाम जेम्स अण्णामलाई है । मैं बैंगलोर से हूं । हिन्दुआें और प्रमुख रूप से स्वामी विवेकानंद का मैं द्वेष करता हूं । स्वामी विवेकानंद वेश्या का हत्यारा पुत्र था । मैं डॉ. आठवले को तुम्हारे आश्रम में घुसकर मारूंगा । तुम्हारे आश्रम की सभी लडकियों से बलात्कार करूंगा और भारत में क्रिश्‍चैनिटी स्थापित करूंगा ।” जेम्स अण्णामलाई द्वारा भेजा गया पत्र .. पत्र के संदर्भ में सनातन संस्था के प्रवक्ता श्री. चेतन राजहंस ने पुलिस में शिकायत दर्ज की है । सनातन संस्था ने इस धर्मांध ईसाई व्यक्ति के विरोध में कठोर से कठोर कार्रवाई करने की मांग की है । गोवा में २५ दिसंबर से नाताळ (क्रिसमस) बडी मात्रा में आरंभ हो रहा है । उसकी पूर्वसंध्या पर ऐसा धमकी भरा पत्र हिन्दुत्ववादी सनातन संस्था के आश्रम में ईसाइयों की ओर से आता है, तो यह गोवा के धार्मिक सौहार्द के लिए घातक है, ऐसी प्रतिक्रिया श्री. राजहंस ने इस समय दी ।

श्री. चेतन राजहंस ने कहा कि, सनातन के आश्रम में घुसकर डॉ. आठवले जी की हत्या करने की बात जेम्स अण्णामलाई की आतंकवादी मनोवृत्ति दर्शाती है और आश्रम की सभी लडकियों से बलात्कार करने की बात से उनकी विकृत मानसिकता दिखाई देती है । वे स्वामी विवेकानंद को वेश्यापुत्र कहकर हिन्दू धर्म और स्वामी विवेकानंद के प्रति का द्वेष प्रगट कर रहे हैं । भारत में क्रिश्‍चैनिटी स्थापित करने का उनका उद्देश्य उनकी धर्मांधता है । इसलिए ऐसा व्यक्ति समाजहित के लिए अत्यंत घातक है और हमारी मांग है कि, उस पर तत्काल कार्रवाई की जाए ।

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!