Press "Enter" to skip to content

वो हर घर से अफ़ज़ल निकाल रहे थे, यहाँ से एक शम्भू निकल गया तो वो बुरा मान गए !

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें

हमला अगर आपके मुल्क की आत्मा पर हो …. लोकतंत्र के सर्वोच्च मंदिर संसद पर हो …. तो वो हमलावरों के समर्थन में आ खड़े होते हैं ….हमला अगर अक्षरधाम पे हो …. संकट मोचन पे हो …. सिद्धिविनायक पे हो …. वो तुरंत हमलावरों को बचाने उनके समर्थन में आ खड़े होते हैं ….हमला दिल्ली मुम्बई कोलकत्ता जयपुर लखनऊ कानपुर भोपाल आसाम बंगाल कश्मीर में हो …. हमला अगर उत्तर दक्षिण पूर्व पश्चिम मध्य भारत में हो …. वो तुरंत हमलावरों को बचाने उनके समर्थन में आ खड़े होते हैं ….हमला आपके घरों में हो …. बाजारों में हो …. बसों ट्रेनों में हो …. हवाई अड्डों पे हो …. वो तुरंत हमलावरों को बचाने उनके समर्थन में आ खड़े होते हैं ….हमला 26/11 का हो या हमला नाइन इलेवन का हो …. वो हमलावरों को बचाने उनके समर्थन में आ खड़े होते हैं ….

फांसी चाहे 1993 मुम्बई ब्लास्ट के आरोपी याकूब को हो …. फांसी चाहे संसद हमले के आरोपी अफ़ज़ल गुरु को हो …. फांसी चाहे 26/11 के आरोपी कसाब को हो …. वो फांसी रुकवाने …. आरोपियों को बचाने उनके समर्थन में आ खड़े होते हैं ….वो बुरहान वाणी का भी समर्थन करते हैं …. वो अमरनाथ यात्रियों के बस ड्राइवर सलीम का भी समर्थन करते हैं …. याकूब से ले के बुरहान वाणी और घाटी में मरने वाले हर दहशतगर्द का वो समर्थन करते हैं …. लाखों की तादाद में वो इनके ज़नाज़े में शामिल होते हैं …. भारत की बर्बादी और खंडित होने के नारे लगाते हैं ….

वो आपके राष्ट्र गीत का विरोध करते हैं …. वो आपके राष्ट्र गान का विरोध करते हैं …. वंदे मातरम का भी वो विरोध करते हैं …. हिन्दू हिंदी हिंदुस्तान का वो विरोध करते हैं …. आपके राष्ट्र के गौरव अस्मिता पहचान से जुड़ी हर चीज़ का वो विरोध करते हैं ….आपकी गौ से ले के गौ-मूत्र …. गोबर से ले के खिचड़ी …. योग से ले के आयुर्वेद तक का वो विरोध करते हैं ….

कार्टून फ्रांस में बने …. शार्ली एब्दो हत्याकांड का समर्थन वो भारत में करते हैं …. हमला इनपे म्यामांर में हो या गाजा पट्टी फिलिस्तीन में हो …. वो आपके देश मे विरोध प्रदर्शन करते हैं …. कश्मीरी पंडितों को मार के वो भगाते हैं …. रोहिंग्यों का समर्थन वो करते हैं …. कैराना वो करते हैं ………… आज़ाद मैदान में शहीद स्मारक को लातें वो मारते हैं …. आगजनी हिंसा तोड़फोड़ दंगा वो करते हैं …. गोधरा मुज़्ज़फ़रनगर वो करते हैं ………….. और उक्त घटनाओं को डिफेंड भी वो करते हैं …. घटनाओं का समर्थन भी वो करते हैं ….और तुम ?? ….

भोसड़ी वालों एक शम्भूनाथ पर बंट गए …. ज्ञान चोदन करने लगे …. राय सलाह मशविरा देने लगे …. हत्याकांड तुमको विभत्स मार्मिक अमानवीय लगने लगा …. गर्त में धँसते जा रहे है हम ये लगने लगा तुमको …………… इससे पहले भी तुम एक मामूली भारत पाकिस्तान के क्रिकेट मैच पे बंट गए थे …. एक दूजे को राष्ट्र भक्त और राष्ट्र द्रोही का प्रमाणपत्र बंटने बांटने लगे थे ………….. और वो उस वक़्त भी मैच में पाकिस्तान की जीत की कामना कर रहे थे ….

याद रखना ………… कयामत के दिन ना मोदी आएगा ना राजनाथ आएगा …. ना इंडियन आर्मी वक़्त पे आएगी ना इंडियन पुलिस वक़्त पे आएगी ……….. सबके सामने दो ही ऑप्शन होंगे ………या तो डॉ नारंग बन जाना और कर देना गर्दन आगे ….या शम्भूनाथ बन के उठा लेना कुल्हाड़ी !!!! …. इन बांग्लादेशियों का आतंक हर जगह फ़ैल रहा है, शम्भू के कारण देखिये राजस्थान में क्या हो रहा है, ये पेपर वालों ने “बंगाली” लिखा हुआ है, पर आप इसे बांग्लादेशी ही मानिये, जिनका आतंक राजस्थान में बढ़ता ही जा रहा है 


🚩भेड़िया कभी शाकाहारी नहीं होता, अगर तुम उसको नहीं मारोगे तो वो तुम्हें मार देगा। इससे पहले कि दुश्मन तुम्हें मारे तुम उसको मार दो और शम्भूनाथ ने यही किया🚩 🚩धर्मो रक्षति रक्षितः 🚩वीर भोग्या वसुंधरा 🚩धर्म हिंसा तदैवच: 🚩जय माँ भवानी🚩

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!