Press "Enter" to skip to content

पंजाब में 131 किसानो ने की आत्महत्या, पर मीडिया खामोश क्यूंकि “बोटी” मिल रही है

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें


पंजाब एक समृद्ध राज्य है, लोग सोचते है की यहाँ सबकुछ ठीक है, पर आपकी सोच गलत है, चुनी मीडिया को बोटी मिल रही है, इसलिए मीडिया आपको बता नहीं रही है, पर पंजाब में जब से कांग्रेस की सरकार 2017 में आयी है, तब से अबतक 131 किसान आत्महत्या कर चुके है 

और आत्महत्या करने वाले किसानो में अमर बलिदानी और जलीवाला बाग़ हत्याकांड का बदला लेने वाले उधम सिंह के  सगे पोते भी शामिल थे, कांग्रेस ने किसानो का कर्जमाफी का वादा किया था पर सत्ता मिलने के बाद अपने वादे से कांग्रेस मुकर गयी और उधम सिंह के सगे पोते ने कर्ज के तले  आत्महत्या कर ली 

पंजाब में 131 किसान अबतक आत्महत्या कर चुके है, पर चूँकि पंजाब में कांग्रेस का शासन है, इसलिए ये बात बताने के लिए कोई भी मीडिया तैयार नहीं है और न ही कोई बुद्धिजीवी इस मुद्दे पर कुछ बोलेगा, आपकी जानकारी के लिए बता दें की कर्णाटक में पिछले 5 साल में जबसे कांग्रेस की सरकार है वहां 3800 से ज्यादा किसानो ने आत्महत्या की है, पर उसकी चर्चा कभी की ही नहीं जाती 

किसानो से बड़े बड़े वादे पंजाब में किये गए थे, पर कांग्रेस सभी वादों से मुकर गयी और 131 किसान अपने जीवन को अबतक ख़त्म कर चुके है, कांग्रेस गुजरात में भी किसानो से बड़े बड़े वादे कर रही थी, और इस चक्कर में कांग्रेस को बहुत से किसानो ने वोट भी दिया, कांग्रेस ने किसानो के नाम पर मध्य प्रदेश के मंदसौर में भी दंगे करवाए थे, किसानो के नाम पर खूब राजनीती करती है कांग्रेस पर आप देखिये की पंजाब जैसे समृद्ध राज में भी किसान आत्महत्या कर रहे है

पंजाब और कर्णाटक में कुछ भी समस्या हो पर देश की मीडिया और देश के बड़े बड़े कथित बुद्धिजीवी इसपर अपनी जबान को बंद करके ही रखते है, क्यूंकि वहां कांग्रेस की सरकारें है सो चलता है 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!