Press "Enter" to skip to content

अफगानिस्तान से बर्मा और तिब्बत से श्रीलंका तक, सब हिन्दू की संतान है : मोहन भागवत जी

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें


आरएसएस प्रमुख  मोहन भागवत जी आज छत्तीसगढ़ की  राजधानी रायपुर में थे, जहाँ उन्होंने कहा है की अफगानिस्तान से लेकर बर्मा यानि म्यांमार तक और तिब्बत से लेकर श्रीलंका तक, जितने भी मानव रहते है वो सभी हिन्दुओ की संतान है, चाहे वो किसी भी मजहब में चले गए हो सब हिन्दू है 

 मोहन भागवत जी ने ये बात तर्क और विज्ञान के आधार पर कही है,  मोहन भागवत जी ने कहा की अफगानिस्तान पाकिस्तान भारत बर्मा बांग्लादेश श्रीलंका इत्यादि में जितने भी लोग है उन सबके डीएनए एक सामान है, जिस से साफ़ होता है की सभी एक ही पूर्वज की संतान है, और इस्लाम, बौद्ध इत्यादि जो धर्म है वो तो बाद में बने है, पर मानवता तो इस इलाके में पहले से है, यानि सभी हिन्दुओ की ही संतान है 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की भारत में रहने वाले 99% मुसलमानो का डीएनए किसी अरबी या तुर्की से नहीं मिलता, इनका डीएनए न मंगोल है और न ही दूर के किसी इस्लामी इलाके का, इन सभी का डीएनए 100% भारतीय है, दूसरी तरफ भारत में जितने भी ईसाई है, उनमे से एक की भी शक्ल आपको यूरोप के लोगो से मिलती दिखाई नहीं देगी, ये चीज तो बहुत साफ़ है सभी धर्मांतरित है, और ये सभी भी भारतीय है कोई यूरोप से आकर यहाँ नहीं बसा है, और बौद्धों की जहाँ तक बात है तो खुद सिद्धार्थ गौतम हिन्दू थे

और आज जो बात  मोहन भागवत जी ने कही है वो भी ऐसे ही नहीं कही उन्होंने इस बात के पीछे डीएनए की बात की है, जो की पुष्टि कर देता है की सभी हिन्दुओ की ही औलादें है, अफगानिस्तान हो या पाकिस्तान यहाँ का भी एक एक शख्स हिन्दुओ की औलाद है, और एक जानकारी और देते है, सऊदी अरब में तो आज भी पाकिस्तानी भारतीय बांग्लादेशी अफगानी मुसलमानो को “अल हिंदी मस्कीन” कहा जाता है, यानि वो लोग जिन्हे हिन्दू से मुसलमान बना दिया गया 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!