Press "Enter" to skip to content

हिन्दुओ को एकजुट करो तो आप भगवा आतंकी, हिन्दुओ को जाति में तोड़ो तो आप बुद्धिजीवी : शेफाली वैद्य

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें



भारत में सेकुलरिज्म चल रहा है, ये सेकुलरिज्म कांग्रेस का बनाया गया है, जिसके बारे में सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के कोने कोने में बुद्धिजीवी कहते है की भारत का सेकुलरिज्म सेक्युलर नहीं बल्कि सांप्रदायिक है, और ये बात वो बिलकुल ठीक कहते है, भारत में सेकुलरिस्म का मतलब ही है हिन्दुओ विरोध ! 

भारत में अगर आप हिन्दू समाज को जोड़ने का काम करते है, आप हिन्दुओ की रैली करते है और उनसे ये कहते है की जातिवाद को छोड़ो और सब हिन्दू बन जाओ, अगर आप हिन्दुओ को एकजुट करने का काम करते है तो आपको इस देश में भगवा आतंकी बता दिया जाता है, जो हिन्दुओ की बात करे, उन्हें जातिवाद से दूर करके हिन्दुवाद से जोड़ने का काम करे, सबको एक सूत्र में पिरोने का काम करे तो इस देश में वो भगवा आतंकी कहलाता है, तमाम हिन्दू संगठन जिसमे सबसे बड़ा नाम आरएसएस का है, देश के बुद्धिजीवी आरएसएस को भगवा आतंकी संगठन कहते है 

राष्ट्रवादी लेखिका शेफाली वैद्य जी को भी बुद्धिजीवी भगवा आतंकी कई बार कह चुके है, चूँकि वो भी हिन्दू समाज को एक सूत्र में जुड़ने के सन्देश देती है, समाज में एकता लाने की कोशिश करती है, शेफाली वैद्य भी भारत  के सेकुलरिज्म को समझती है, और इसी कारण उन्होंने ये ट्वीट किया है 



आप हिन्दुओ को एकजुट करने का काम कीजिये, आप भगवा आतंकी कहलाने लगेंगे, पर आप हिन्दुओ को जातियों में तोड़िये, एक जाति के प्रति दूसरी जाति में नफरत भरिये, फिर आप सामाजिक न्याय के देवता कहलायेंगे, और आपको  अवार्ड भी दे दिए जायेंगे, उदाहरण के लिए राजदीप सरदेसाई, बरखा दत्त जैसे लोगों को कई अवार्ड मिले हुए है, चूँकि इन्होने हिन्दुओ को जातियों में बांटने के काम जो किये है, इसी कारण इन्हे अवार्ड भी मिले, ये बुद्धिजीवी और सेक्युलर भी कहलाते है, पर जो लोग हिन्दुओ को एकजुट करने का काम करे उन्हें ये भगवा आतंकी बता देते है 


Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!