Press "Enter" to skip to content

जबतक दहाड़ते रहे मोदी तबतक तड़पते रहे 44 गीदड़, मचाते रहे शोर, पिद्दी को भी छोड़ा पीछे

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें

जबतक दहाड़ते रहे मोदी तबतक तड़पते रहे 44 गीदड़, मचाते रहे शोर, पिद्दी को भी छोड़ा पीछे, इन लोगो को सांसद कहना भी अपने आप में एक सांसद का अपमान है, क्यूंकि आपने मोदी का भाषण अगर सुना होगा तो आपने इनकी आवाजें भी सुनी होगी, ये लोग जानवर की तरह आवाज निकाल रहे थे, हूउउउउउ, उउउउउउ, इइइइइइइ 

ऐसी हरकतें तो बच्चे भी नहीं करते, राहुल गाँधी के पिद्दी को भी इन लोगो ने पीछे छोड़ दिया, ये गीदड़ तबतक तड़पते रहे जबतक मोदी का भाषण नहीं ख़त्म हो गया, साफ़ हो गया की मोदी के भाषण से इनकी चींखें निकल रही थी, ये लोग किसी भी तरीके से चाहते थे की संसद की कार्यवाही को स्थगित कर दिया जाये, पर आज मोदी भी तय करके आये थे की इन गीदड़ो को तड़पा तड़पा के थका थका के ही दम लेंगे ! 

मोदी ने साफ़ कर दिया की भारत देश का निर्माण कोई 15 अगस्त 1947 को नेहरू द्वारा नहीं किया गया, ये देश हज़ारो साल पुराना है जिसके टुकड़े कांग्रेस ने किये, प्रधानमंत्री ने ये भी साफ़ कर दिया की नेहरू के कारण लोकतंत्र भारत में नहीं है, भारत का लोकतंत्र कोई नेहरू या कांग्रेस की देन नहीं है, यहाँ आप नोट कर लीजिये की मोदी के भाषण का 1-1 शब्द संसद के रिकॉर्ड में जायेगा ! 

मोदी ने ये भी बताया की 40 रुपए का बल्ब कांग्रेस 350 रुपए में खरीद रही थी, वही बल्ब उसी कंपनी से उसी तकनीक का हम 40 रुपए में खरीदते है, साफ़ है की कांग्रेस 1 बल्ब पर 350 रुपए लूट रही थी, मोदी ने इसके अलावा ये भी बताया की राजीव गाँधी के समय सरकार रक्षा सौदों में दलाली खाती थी और कांग्रेस पार्टी भी उसी दलाली के पैसे से चलती थी, और ये बात स्वयं भारत के पूर्व राष्ट्रपति आर वेंकटरमन ने अपनी किताब में लिखी है, जो की कांग्रेस के ही नेता थे 

आज मोदी ने इन 44 गीदड़ो को इतना धोया इतना धोया की ये लोग कहारते रहे, शोर मचाते रहे और ये तबतक तड़पते रहे जबतक  मोदी का भाषण ख़त्म नहीं हो गया, मोदी का भाषण जैसे इनके लिए हंटर था जिसकी मार से ये शोर मचाते रहे बिलबिलाते रहे 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!