Press "Enter" to skip to content

चीन ने किये 60 लाख भ्रष्टाचारियों के पासपोर्ट जप्त, जबतक केस तबतक नहीं जा सकते विदेश !

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें


ऐसा नहीं है की चीन कोई हमारे से पुरानी और महान सभ्यता हो, ऐसा भी नहीं है की चीन में हमारे से ज्यादा प्राकृतिक संसाधन है, और न ही चीनी  मनुष्य भारतीय मनुष्य से ज्यादा दिमाग वाला  है,  और भारत 1947 में आज़ाद हुआ था जबकि चीन 1948 में, और आज़ादी के समय चीन की स्तिथि भारत से भी ख़राब थी 

फिर भी आज चीन हमसे आगे है, साफ़ है  की चीन में भारत से कई चीजें बेहतर होंगी, तभी तो चीन हमसे आगे है, और हर चीज में आगे है, इस बात को आप घमंड में भी नकार नहीं सकते, उसकी सेना, अर्थव्यवस्था सब हमसे तगड़ी है, जो पहले नहीं थी, चीन और भारत में हम आपको एक बड़ा फर्क बताते है, जिस से आप समझ पाएंगे की चीन भारत से क्यों आगे है 

सबसे बड़ा फर्क तो ये है की चीन सेक्युलर देश नहीं है, दूसरा बड़ा फर्क ये है की चीन में भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कानून और नियम है, और उनका पालन भी किया जाता  है, चीन ने अपने यहाँ 60 लाख से ज्यादा चीनियों का पासपोर्ट जप्त किया  हुआ है, और वो इसलिए ताकि वो विदेश न जा सके, और चीन इन लोगों को विदेश जाने क्यों नहीं देना चाहता !! 

दरअसल ये सभी 60 लाख भ्रष्टाचारी है, इनपर भ्रष्टाचार के केस चल रहे है, चीनी अदालतों में सुनवाई चल रही है, और इसी कारण चीन ने सभी के पासपोर्ट जप्त किये हुए है जिनपर वित्तीय  गड़बड़ियों के केस है, भ्रष्टाचार के केस है, जबतक केस की सुनवाई पूरी नहीं होती ये लोग विदेश नहीं जा सकते, चीन ने ऐसा इसलिए किया है ताकि 1 भी भ्रष्टाचारी भाग न सके, भारत में भी ऐसे कानून की जरुरत है, यहाँ तो सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी 5000 करोड़ के लूट केस में जमानत पर चल रहे है, जब मन तब विदेश जाते है, चीन में होते तो पासपोर्ट जप्त होता 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!