Press "Enter" to skip to content

ये है वर्तमान की आसुरी शक्तियां : वामपंथी, जिहादी और सेकुलर्स, जिन्हे ख़त्म करना हमारा कर्तव्य

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें


अगर आप अपने दुश्मनो, देश और समाज के दुश्मनो को नहीं पहचानते तो आप लड़ेंगे किसके खिलाफ ? पहले आपको दुश्मनो को पहचानना होगा, कौन से लोग हमारे देश और समाज को बर्बाद करने में लगे हुए है, आप उनको पहचान गए तो फिर वो आपके सामने टिक नहीं सकते

भारत और हिन्दू समाज के अनेको दुश्मन है, पर 3 प्रमुख दुश्मनो पर आज हम बात कर रहे है, अगर इन 3 को ख़त्म किया जाये, इन 3 मानसिकताओं को ख़त्म किया जाये, तो भारत 20 सालों में चीन से हर मामले में कहीं आगे निकल सकता है, और 30 सालों में ही दुनिया की सुप्रीम ताकत बन सकता है, ये 3 दुश्मन भारत में 1947 से ही सक्रिय है, इसके बाबजूद भी भारत आज एक ठीक ठाक ताकतवर देश है, आप सोचिये ये तीन दुश्मन न होते तो आज अमरीका चीन सभी भारत से पीछे होते, भारत में ज्ञान और क्षमता का भंडार है ! 

भारत के दुश्मनो में वामपंथी शक्तियां है – ये भारत में रहकर ऐसे ही काम करती है जैसे लड़की को दीमक चाटकर ख़त्म करता है, ये वामपंथी चीन के सिपाही है, ये 1962 में युद्ध में चीन का साथ दे चुके है, ये जिहादियों के भी साथी है, ये हर हिन्दू और भारत विरोधी शक्तियों के साथी है, इनका एकमात्र लक्ष्य है भारत से हिन्दुओ का समूल नाश, हिन्दू संस्कृति का नाश ! 

भारत के दूसरे दुश्मन है जिहादी तत्व – ये भारत में करोडो की संख्या में है और ये भारतीय नाम के है असल में ये सब पाकिस्तानी है, और अगर भारत का पाकिस्तान से निर्णायक युद्ध हो तो ये करोडो जिहादी भारत के खिलाफ जिहाद छेड़ने में 1 पल भी नहीं लगाएंगे, इनके पास  हर तरह के हथियार होते है, हथियारों की कोई कमी नहीं, ये भारत में तरह तरह के जिहाद करते है जिसमे जनसँख्या जिहाद प्रमुख है ! 

और भारत का सबसे बड़ा, और सबसे घातक शत्रु है सेकुलर्स – ये लोग जिहादियों और वामपंथियों के संरक्षक है, ये वामपंथियों जिहादियों का बचाव करते है, आतंक के बाद कहते है की आतंकी का कोई मजहब नहीं, पर हिन्दुओ को ये आतंकी बताते है, ये लोग समाज को गुमराह करते है, और जिहादियों वामपंथियों मिशनरियों सबका साथ देते है, ये सबसे बड़े गद्दार है, और सबसे बड़े शत्रु 

और भारत के ये 3 दुश्मन, आपस में बहुत संगठित है, इनमे गज़ब की एकता है, हिन्दुओ में तो एकता है ही नहीं, पर भारत के इन 3 दुश्मनो में गज़ब की एकता है, और ये सब एक दूसरे का साथ देते है, क्यूंकि इन तीनो का  एक ही मकसद है, भारत से हिन्दू संस्कृति का समूल नाश, और जब हिन्दू संस्कृति ही नहीं होगी तो भारत का तो कोई अस्तित्व ही नहीं है ! 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!