Press "Enter" to skip to content

कश्मीर में पत्थरबाजो से लडे मेजर आदित्य के पिता कोर्ट लगा रहे गुहार – मेरे बेटे को बक्श दो

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें

क्या इन हालातों को देखने के बाद कोई राष्ट्रवादी जल्दी हिम्मत करेगा देश के दुश्मनों को सबक सिखाने का ? भारत की जांबाज़ सेना के जवान अगर कश्मीर की घाटियों पर पहरा दे रहे हों तब उनके पिता को अदालत के चक्कर लगाने पड़े अपने बेटे को जेल जाने से बचाने के लिए ? क्या सोच सकते हैं कि राष्ट्र के द्रोह का स्तर किस कदर फ़ैल चुका है देश के अन्दर और अफ़सोस सज्जन शक्ति सब देख कर खामोश है .

विदित हो कि भारत की सेना के जांबाज़ मेजर आदित्य के पिता ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाईं है कि उनके बेटे को गिरफ्तार न किया जाय क्योकि उनके बेटे ने कोई अपराध नहीं किया है . सुप्रीम कोर्ट ने मेजर के पिता की गुहार पर उन्हें शुक्रवार का समय दिया है इस मुद्दे पर सुनवाई के लिए . लेकिन इस घटना ने देश की आन मान शान के लिए लड़ रहे वीरों की दुर्दशा सभ्य और बुद्धिजीवी समाज के आगे रख दिया है .

ज्ञात हो कि मेजर आदित्य और उनके साथ 10 जवानों पर शोपियां में गोली चलाने का अपराध लगा दिया गया है जबकि वहां हालत ऐसे थे कि पत्थरबाज़ सैनिको की जान तक लेने पर उतारू थे और यदि आत्मरक्षा में गोली न चली होती तो पूरी बटालियन पत्थरों की बौछार में मारी जाती . यद्दपि सेना खुल कर अपने सैनिको और मेजर के साथ खड़ी हो चुकी है लेकिन तुच्छ तुष्टिकरण की राजनीति के चलते सेना के मनोबल को बार बार घायल किया जा रहा है .

वहीँ कांग्रेस के साथी उमर अब्दुल्ला ने तो यहाँ तक मांग कर दी है की भारतीय सैनिको पर FIR  हो गयी है तो जल्द उनकी गिरफ़्तारी की जाये, उनपर तुरंत कड़ी कार्यवाही की जाये, अगर देश इस मुद्दे पर अभी एकजुट नहीं हुआ, तो देश के लिए आने वाला समय घातक सिद्ध होगा क्यूंकि सेना का मनोबल टुटा तो देश कहीं का नहीं रहेगा 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!