Press "Enter" to skip to content

ये है अच्छे दिन : भारतीय कम्पनियाँ चीन के अंदर चीनी कंपनियों को पछाड़ने लगी, ये एक बड़ी उपलब्धि

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें


चीन एक साम्राज्यवादी देश है, वो बिलकुल नहीं चाहता की कोई भी देश उसके सामने  किसी भी मामले में टिके, चीन दुनिया भर में व्यापार करना चाहता है, पर दूसरे लोगों को अपने यहाँ व्यापार नहीं करने देना चाहता, और असल में वहां के लोग भी काफी एकजुट है, जो मिलकर विदेशी कंपनियों का बहिष्कार करते है 

उदाहरण के तौर पर, चीनी लोग गूगल का इस्तेमाल नहीं करते, चीनियों ने खुद का ही सर्च इंजन बनाया हुआ है, चीनी लोग फेसबुक और व्हाट्सऐप का भी इस्तेमाल नहीं करते, उन्होंने खुद के ऐप और सोशल मीडिया के प्लेटफार्म बनाये हुए है, चीनी लोग दूसरे देशों के फ़ोन भी नहीं इस्तेमाल करते, कुल मिलाकर चीन की सरकार और वहां की जनता, दूसरी कंपनियों को अपने यहाँ टिकने नहीं देती 

ऐसे में कोई विदेशी कंपनी चीन में चीनी कंपनियों पर ही भारी पड़ जाये, चीनी मार्किट में ही चीनी कम्पनियाँ को पछाड़ने का काम शुरू कर दे तो ये एक बड़ी उपलब्धि है, ये एक बड़ी चीज है बड़ी बात है, और मोदी राज में भारतीय कंपनियों ने चीन में इतिहास बना दिया है 

Image result for BLACK TEA INDIA VS CHINA

जी हां, भारत की ब्लैक टी  कंपनियों ने चीनी मार्किट में चीनी ब्लैक टी कंपनियों को पछाड़ दिया है, भारत की कंपनियों का ब्लैक टी, चीनी कंपनियों के ब्लैक टी से ज्यादा चीनी मार्किट में बिक रहा है, जिस से चीन परेशान है, और बड़ी चीज ये है की चीन कुछ कर भी नहीं पा रहा है, पिछले 3 सालों से यानि 2015 के बाद से भारत की  ब्लैक टी कम्पनियाँ चीनी कंपनियों को चीन में पछाड़ रही है 

Image result for INDIAN BLACK TEA IN CHINA


2014 तक चीनी मार्किट में भारत 1 मिलियन किलो ब्लैक टी ही बेच पाता था, पर 2014 में मोदी प्रधानमंत्री बने और हमारे उद्योग मंत्रालय ने कुछ नीतिगत बदलाव किये जिसके बाद 2015 में भारत ने चीन में 3 मिलियन किलो ब्लैक टी बेचा, यानि तीन गुने की बढ़ोतरी 

फिर 2016 में भारत ने चीन में 5.5 मिलियन किलो ब्लैक टी बेचा, और 2017 में ये आंकड़ा 8.3 मिलियन किलो तक पहुँच गया, माना जा रहा है की 2018  में जब आखिरी आंकड़े  आएंगे, तो भारत चीन में 12 मिलियन ब्लैक टी बेच लेगा, और इस से चीन की सरकार और चीनी कंपनियों की नींद उडी हुई है, चीन के मार्किट में ब्लैक टी के मामले में भारतीय कम्पनियाँ  दिन दुनि रात चौगुनी तरक्की कर रही है, और चीनी कम्पनियाँ फ्लॉप पर फ्लॉप हो रही है, हालाँकि 2017 में  चीनी मार्किट में भारत की कंपनियों ने 8.3 मिलियन किलो ब्लैक टी बेचा है, जबकि चीन की कंपनियों ने 20 मिलियन किलो 

पर भारत की कम्पनियाँ मार्किट पकड़ने में लगातार कामयाब हो रही है, जहाँ  भारतीय कम्पनियाँ साल दर साल ज्यादा टी बेच रही है, वहीँ चीनी कंपनियों का मार्किट  शेयर हर साल घट रहा है, और 2019 तक आंकड़ों ने अनुसार चीन में भारतीय कम्पनियाँ 15 मिलियन किलो तक पहुँच जाएँगी जबकि चीनी कम्पनियाँ भी नीचे आकर 15 मिलियन किलो तक पहुँच जाएगी, और 2020 में चीनी ब्लैक टी मार्किट हमारा होगा ! 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!