Press "Enter" to skip to content

वर्ल्ड इकॉनमी में भारत चमकता हुआ सितारा, GST के कारण 8% से बढ़ेगी जीडीपी : वर्ल्ड बैंक

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें

अभी सुबह-सुबह बहुत बड़ी खबर आ रही है जहाँ एक तरफ विश्वस्तर पर आर्थिक मंदी छायी हुई है ऐसे में भारत की तेज़-तर्रार प्रगति देख कर विश्व के महान शक्तिशाली देश भी हैरान हैं. जी हाँ वर्ल्ड बैंक ने पीएम मोदी के जीएसटी को संरचनात्मक बदलाव बताते हुए इसकी तारीफ करी है. साथ ही वर्ल्ड बैंक के भारत प्रमुख, जुनैद अहमद ने कहा है कि जीएसटी से बहुत ही आश्चर्यजनक आंकड़े सामने आ रहे हैं. जिसके मुताबिक जीएसटी की वजह से भारत की वृद्धि दर 8 फीसदी से भी ज़्यादा अधिक रहेगी. कोंग्रेसियों ने मचाया था कोलाहल!

आपको बता दें शुरू में नोटबंदी और जीएसटी से वृद्धि दर में गिरावट आयी थी जो कि इतनी बड़ी जनसँख्या वाले देश में होना थोड़ा स्वाभाविक भी है. लेकिन इस बीच कांग्रेस ने कितना कोलाहल मचाया था. कांग्रेस के मुताबिक दुनिया के सबसे महान अर्थशास्त्री डॉक्टर मनमोहन सिंह जो अपने दस साल के कार्यकाल में नहीं बोले उन्होंने तो यहाँ तक कह दिया था कि जीएसटी से जीडीपी को दोहरा झटका लगेगा.!

ये वही हारवर्ड से पढ़े हुए मनमोहन सिंह हैं जिन्होंने अपने कार्यकाल में कहा था कि पैसे पेड़ पर नहीं उगते हैं. यही नहीं साल 2013 में भारत वैश्विक वित्तीय उथल-पुथल वाले देशों में शामिल हो गया था. रुपया गिरकर रेकॉर्ड 68.85 स्तर तक पहुंच गया था और विदेशी मुद्रा भंडार 275 अरब डॉलर के निचले स्तर तक पहुंच गया था. लेकिन आज मोदी सरकार में रुपया 64.27 और विदेशी मुद्रा भण्डार 400 अरब डॉलर के छप्पर फाड़कर उच्चतम स्तर पर है.!

भद्दी गालियों के महारथी भी दे रहे थे ज्ञान जीएसटी पर : तो वहीँ आज कल अपने भद्दी गालियों से ख़बरों में सुर्खियां बटोरते हुए कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा था कि जीएसटी को लेकर मोदी में दूरदृष्टि की कमी है. इसके आगे इन्होने कहा था “जीएसटी को बहुत ही उलझन भरा और बेहद बुरे ढंग से डिजाइन किया गया है.”. इसके साथ उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि भगवान भला करे भारत का.! आपको बता दें जीएसटी को लागू करने के लिए 30 जून की आधी रात को संसद में विशेष समारोह आयोजित किया गया था जिसका कांग्रेस पार्टी ने बहिष्कार किया था.

लेकिन सभी कोंग्रेसियों के अर्थशास्त्रों को फेल करते हुए वर्ल्ड बैंक ने कह दिया है कि आज भारत की वृद्धि दर 8 फीसदी से अधिक होने की संभावना बढ़ी है क्यूंकि भारत ने हाल ही में एक साहासिक कदम उठाते हुए पूरे देश को एक बाजार के रूप में बदलने का काम किया है. जुनैद अहमद ने कहा कि अगर भारत के स्थानीय बाजारों का सही तरह से एकीकरण किया गया तो आने वाले 5-8 सालों में भारत वैश्विक एकीरण पर भारी पड़ेगा. इसके साथ-साथ पीएम मोदी का बंदरगाहों का एकीकरण तो भारत की वृद्धि की प्रकृति तक को बदल देगा.!

जापान, चीन, जर्मनी को बुरी तरह पछाड़ देगा भारत इससे पहले आपको अभी याद ही होगा ब्रिटेन की ब्रोकरेज फर्म HSBC ने भी रिपोर्ट में कहा था कि अगले 10 सालों में भारत, जापान और जर्मनी को पीछे छोड़ते हुए दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा. जिस रिपोर्ट के मुताबिक़ अभी भारत 2.3 ट्रिलियन डॉलर (2.3 लाख करोड़ डॉलर) के साथ दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है लेकिन भारत अगर इसी गति से दौड़ता रहा तो दस सालों में जर्मनी, जापान व् चीन को भी पछाड़ते हुए 7 ट्रिलियन यानी 7 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएगा….!!

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!