Press "Enter" to skip to content

शंकराचार्य के निधन के बाद राहुल गाँधी ने किया उनका भद्दा अपमान, कपिल मिश्रा ने लगाई क्लास

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें


कांची मठ के शंकराचार्य जयेन्द्र सरस्वती जी का कल निधन हो गया, वो इतने महान थे की अब्दुल कलाम भी उनके चरणों में बैठते थे, उन्होंने धर्म की रक्षा की और तमिलनाडु का ईसाईकरण नहीं होने दिया, आज भी तमिलनाडु का पूरी तरह ईसाईकरण नहीं हुआ इसमें शंकराचार्य जी का अहम् योगदान रहा 

और इसी के कारण वो सोनिया गाँधी के निशाने पर भी आ गए थे, सोनिया गाँधी ने शंकराचार्य को झूठे मर्डर केस में  फंसवाया और दीपावली के दिन शंकराचार्य को गिरफ्तार करवाया गया, ताकि हिन्दुओ को शर्मिंदा किया जा सके, और शंकरचार्य जी को कातिल, हत्यारा बताया गया उनका खूब अपमान किया गया, जेल में उनको टॉर्चर करवाया गया 

Image result for JAYENDRA SARASWATHI ARRESTED
दिवाली के दिन शंकराचार्य जी को गिरफ्तार किया गया था 

पर बाद में सच की जीत हुई और कोर्ट ने शंकराचार्य जी को बरी कर दिया, उनका पूरा केस ही फर्जी था, जिसे कोर्ट ने ख़त्म कर दिया और शंकराचार्य जी को बरी कर दिया गया,  इस कांग्रेस ने हमारे शंकराचार्य को इसलिए टॉर्चर किया क्यूंकि वो तमिलनाडु के ईसाईकरण में एक रोड़ा बने हुए थे, और उन्हें रस्ते से हटाने के लिए मर्डर के केस में सोनिया गाँधी ने फंसाया 

अब शंकराचार्य जी का कल देहांत हो गया तो देखिये सोनिया गाँधी के बेटे राहुल गाँधी ने किस प्रकार  शंकराचार्य जी का अपमान किया 

राहुल गाँधी ने शंकराचार्य जी को फर्जी श्रद्धांजलि दी और उनके लिए “रेस्ट इन पीस” का इस्तेमाल किया, यानि कब्र में आराम करो, ये शंकराचार्य जी का भद्दा अपमान है, चूँकि वो जीवन भर ईसाई मिशनरियों से लड़ते रहे और राहुल गाँधी ने उनके लिए “रेस्ट इन पीस” का इस्तेमाल किया, जबकि इसी कांग्रेस ने शंकराचार्य जी को टॉर्चर करवाया था, देखें राहुल गाँधी को लोगो ने क्या कहा

कपिल मिश्रा ने इस फर्जी जनेऊधारी को बताया की शंकराचार्य जी के लिए “रेस्ट इन पीस” का इस्तेमाल करना बेहद शर्मनाक, हिन्दू धर्म में मोक्ष माँगा जाता है, रेस्ट इन पीस नहीं और रेस्ट इन पीस का हिन्दू धर्म में कोई स्थान नहीं है, साथ ही कपिल मिश्रा ने बताया की राहुल गाँधी को कम से कम शंकराचार्य जी के लिए सही शब्दों का इस्तेमाल करना चाहिए 

आपको बता दें की ये वही राहुल गाँधी है जो खुद को साधारण हिन्दू नहीं बल्कि जनेऊधारी हिन्दू घोषित करवा चुके है, पंडित घोषित करवा चुके है, पर इनको इतना तक नहीं पता की हिन्दू धर्म में “मोक्ष” माँगा जाता है, रेस्ट इन पीस ईसाइयत है,  माँ ने शंकराचार्य जी के जीवित रहते उनको टॉर्चर करवाया और बेटे ने उनके निधन के  बाद उनका अपमान किया 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!