Press "Enter" to skip to content

केरल में हिन्दू मारे जाते है तो मुझे क्या फर्क पड़ता है, उनका मुद्दा मैं क्यों उठाऊ : सबा नकवी, पत्रकार

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
केरल में हिन्दू मारे जाते है तो मुझे क्या फर्क पड़ता है : सबा नकवी, पत्रकार
केरल में हिन्दू मारे जाते है तो मुझे क्या फर्क पड़ता है : सबा नकवी, पत्रकार

आप अक्सर मीडिया के दोगलेपन पर सवाल उठाते है न, अब हमारा आपसे ये कहना है की आप इन लोगों पर सवाल न उठाये क्यूंकि इन लोगों ने साफ़ कर दिया है की ये सिर्फ हिन्दुओ के खिलाफ मुद्दे उठाएंगे

अगर हिन्दुओ पर अत्याचार होता है, उनको लुटा जाता है, मारा जाता है, रेप किया जाता है तो इन लोगों को कोई फर्क नहीं पड़ता, और इसी कारण ये लोग हिन्दुओ के खिलाफ जो अत्याचार होते है उन मुद्दों को कभी नहीं उठाते


और खुलेआम सबके सामने ये बात मुस्लिम पत्रकार सबा नकवी ने कहा – उन्होंने कहा की केरल में हिन्दू मारे जाते है तो उन्हें क्या फर्क पड़ता है, हिन्दुओ को मारे जाने से उनको फर्क नहीं पड़ता और हिन्दुओ के मुद्दे उठाना उनका काम नहीं है, अगर आपको यकीन नहीं हो रहा है की इस पत्रकार ने ऐसा कहा तो देखिये विडियो

 


ऍम आर वेंकटेश ने जब कहा की आप लोग अख़लाक़, जुनैद इत्यादि का मुद्दा इतनी जोर शोर से उठाते है पर आप लोग केरल में आरएसएस के जो कार्यकर्त्ता मारे जाते है उसपर मौन क्यों रहते है

तो सबा नकवी ने कहा की – केरला में आरएसएस के कार्यकर्त्ता मारे जाते है तो उनका मुद्दा वो क्यों उठाये, ये उनका काम नहीं है, उन्हें फर्क नहीं पड़ता अगर आरएसएस के कार्यकर्त्ता मारे जाये

अब आप जो बरखा दत्त, राजदीप सरदेसाई, सागरिका घोसे, NDTV, कांग्रेस, वामपंथियों के दोग्लेपन पर सवाल उठाते है कदाचित आपको उसका जवाब मिल गया होगा

अलवर के रक्बर खान का मुद्दा इन सब ने उठाया पर 22 साल के दलित लड़के खेताराम का मुद्दा इन लोगों ने नहीं उठाया, और क्यों इसका जवाब सबा नकवी ने दे दिया, ये लोग हिन्दुओ को मानव में गिनते ही नहीं और हिन्दुओ के खिलाफ जो अत्याचार होते है उस से इनको फर्क नहीं पड़ता

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!