Press "Enter" to skip to content

केरल में 5 पादरियों ने किया 1 महिला का 380 बार बलात्कार, सभी के सभी खामोश

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
केरल में पादरियों द्वारा रेप
केरल में पादरियों द्वारा रेप

केरल में 5 पादरियों ने किया महिला का बलात्कार : ये वही राज्य है जहाँ एक एक कर के मार डाले जा रहे हैं कई हिन्दू नेता , PFI नाम के एक संदेहास्पद संगठन का कई बार इन हत्याओं में नाम आने के बाद भी अब तक सिर्फ राष्ट्रवादियों के अलावा किसी एक ने भी उसके खिलाफ आवाज नहीं उठाई बल्कि भारत के उपराष्ट्रपति जैसे बड़े पद पर लम्बे समय तक रह चुका हामिद अंसारी उनके मंच तक पहुंच गया और उन्हें शाबाशी तक दे आया ..

केरल में 5 पादरियों ने किया महिला का बलात्कार  : ये वही राज्य हैं जहाँ चौराहे पर गौ माता को काट कर खा लिया गया और इसक वीभत्स दृश्य को दिखाने के लिए बाकायदा मीडिया आदि को बुलाया गया था .. अब उसी वामपंथ षष्टी केरल में हुआ एक और नृशंस काण्ड .

ज्ञात हो की कम्युनिस्ट सरकार द्वारा शासित और एकतरफा हिन्दुओं के ही दमन में व्यस्त केरल के पांच पादरियों पर पिछले कुछ वर्षों में विवाहित महिला के साथ बलात्कार का बेहद गंभीर आरोप लगा है। यह घृणित मामला सामने आने के बाद केरल के द मलांकरा ऑर्थोडोक्स सीरियन चर्च ने एक बेहद मामूली सज़ा देते हुए इन सभी पांच आरोपी पादरियों को छुट्टी पर भेज दिया है। इन्होने उस महिला को न सिर्फ अपनी हवस का शिकार बनाया है बल्कि उसको लम्बे समय तक ब्लैकमेल भी किया है जिसके चलते उसने खुद को उनके आगे रो रो कर सौंप दिया ..


चर्च की वर्किंग कमेटी के सदस्य और ट्रस्टी ओमओ जॉन ने बताया कि इस मामले में सभी पांच पादरियों के खिलाफ जांच के लिए टीम का गठन कर दिया गया है। इन पांच पादरियों में से एक पादरी दिल्ली की चर्च का है।

शिकायतकर्ता कहता है कि शादी से पहले एक पादरी ने उसकी पत्नी को ब्लैकमेल किया, उसके साथ यौन शोषण किया और धमकी दी कि अगर उसने किसी को भी बताया तो वह उसके कंफेशन के बारे में सबको बता देगा। इसके बाद दूसरे पादरी ने भी महिला की एक तस्वीर का हवाला देते हुए ब्लैकमेल किया।

महिला का पति को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि उसपर कई सेलेब्रिटीज चर्च के खिलाफ मामले को वापस लेने का दबाव बना रहे हैं। फादर जॉन ने बताया कि शिकायत में पुलिस जांच की जरूरत नहीं है, शिकायत में पति ने कहा है कि एक पादरी ने उसकी पत्नी के साथ 380 बार यौन शोषण किया है, एक पादरी का महिला के साथ युवावस्था से ही संबंध था, जबकि दूसरे पादरी का महिला के साथ काम के दौरान संबंध बना था,

जबकि तीसरे पादरी के साथ महिला का संबंध कॉलेज के दिनों में बना था। हैरानी की बात ये है की पादरियों के बनाये तिलिस्म के चलते ही अभी तक किसी की पुलिस में जाने की हिम्मत नहीं हुई है .

वरिष्ठ पादरी जॉन ने बताया कि इन सभी पांच आरोपी पादरियों को निर्देश दिया गया है कि वह चर्च में किसी भी तरह की प्रार्थना से दूर रहें, ये सभी लोग शक के घेरे में, इन लोगों के भविष्य का फैसला जांच कमेटी की रिपोर्ट के बाद ही होगा। यहाँ ध्यान रखने योग्य है की जांच आदि के बाद फैसला करने वाले तमाम लोग वही हैं जो हिन्दू संतो पर मात्र आरोप के आधार पर हल्ला मचा देते हैं ..

चर्च को लिखे गए एक पत्र में पीड़ित महिला के पति ने आरोप लगाया है कि उनकी पति ने एक पादरी के सामने कंफेशन किया था और उनसे कहा था कि वह इस बात को किसी और को ना बताएं, चर्च के नियम के अनुसार कोई भी पादरी कंफेशन के बारे में किसी को बता नहीं सकता है,

लेकिन पादरी ने उनकी पत्नी को ब्लैकमेल किया। शिकायतकर्ता ने अपने पत्र में आठ लोगों का जिक्र किया है, लेकिन सिर्फ पांच लोगों के खिलाफ ही कार्रवाई की जा रही है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!