Press "Enter" to skip to content

पिछले 1 हफ्ते में 7 हिन्दू साधुओं की हत्या, हर मामले को मीडिया ने दबाया, लिंचिंग गैंग गायब

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
चुन चुन कर मारे जा रहे हिन्दू साधू
चुन चुन कर मारे जा रहे हिन्दू साधू

लिंचिंग लिंचिंग करने वाले तमाम मीडिया संसथान और बुद्धिजीवी तथा नेता जैसे देश से गायब ही हो गए है, पिछले 1 हफ्ते में देश में 7 हिन्दू साधुओं की काट काट कर हत्या की गयी है

गौहत्यारों ने अब गाय के बाद हिन्दू संतों को भी काटना शुरू कर दिया है, और गौहत्यारों का हौंसला इतना बुलंद इसलिए है क्यूंकि तमाम मीडिया के लोग, नेता, बुद्धिजीवी गौरक्षको को आतंकवादी बताकर गौहत्यारों का समर्थन करते है


आपको बता दें कि गौहत्यारों द्वारा पिछले 7 दिनों के अंदर 7 क़त्ल किये जा चुके हैं तथा ये जो क़त्ल किये गये हैं वो सभी हिन्दू संत हैं, मंदिर के महंत हैं. हिन्दू संतों के क़त्ल की शुरुआत होती है उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से जहाँ 12 अगस्त को एक शिवमंदिर के पुजारी और महंत की सोते वक़्त पीट-पीटकर हत्या कर दी जाती है.

आश्चर्य की बाते ये है कि मॉब लिंचिंग को लेकर महीनों हो हल्ला मचाने वाले नेता या टीवी चैनल इस घटना पर मौन साध लेते हैं. सरेआम मंदिर में घुसकर दो साधुओं की ह्त्या कर दी जाती है लेकिन इसको लेकर कोई डिबेट नहीं होती है और कोई मार्च नहीं निकलता है. अगर कोई गौतस्कर मारा जाता है तो देश असहिष्णु होता है लेकिन जब साधुओं का क़त्ल होता है तो धर्मनिरपेक्षता मुस्कुराने लगती है.

गौहत्यारों का आतंक यहीं पर नहीं रुकता बल्कि इसके बाद बुधवार को उत्तर प्रदेश के ही औरैया के एक मंदिर में तीन साधुओं का क्रूरतम तालिबानी अंदाज में क़त्ल कर दिया. यहाँ सबसे बड़ी बात थी वो ये थी कि ये साधू गौह्त्या के खिलाफ सघन अभियान चलाये हुए थे तथा इनके कारण गौहत्यारे आपने नापाक मंसूबों को अंजाम तक नहीं पहुंचा पा रहे थे और फिर बुधवार को औरैया के बिधूना के भयानक नाथ मंदिर में सो रहे तीनों साधुओं की ह्त्या कर दी गयी तथा उनका अंग भंग किया गया.

इस मामले में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार भी किया है तथा जब साधुओं के हत्यारों के नाम सामने आये तो जैसे राजनैतिक गलियारों में सन्नाटा पसर गया. औरैया के साधुओं की ह्त्या के जुर्म में पुलिस ने सलमान, नदीम, शहबाज, मजनू उर्फ नाजिम और गब्बर को गिरफ्तार किया है.

देश के तथाकथित बुद्धिजीवी वर्ग तथा तथा तमाम राजनेताओं का अप्रत्यक्ष समर्थन पा चुके गौहत्यारे यहीं रुकने वाले नहीं थे. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ तथा औरैया के बाद उब्न्मादियों ने अगला निशाना बनाया हरियाणा के करनाल को.

पहले अलीगढ़ के मंदिर में 2 साधुओं की ह्त्या की गयी फिर औरैया के मंदिर में तीन साधुओं की ह्त्या की गयी तो रविवार 19 अगस्त को करनाल के एक मंदिर में दो साधुओं की बिल्कुल उसी अंदाज में ह्त्या कर दी जाती है जिस तरह से औरैया में की गयी थी. करनाल में औरैया की तरह की साधुओं की ह्त्या की गयी उनकी जीभ काट दी गयी. इसके अलावा मंदिर के तीन सेवादारों को भी निशाना बनाया गया, उन्हें बांधकर पीटा गया तथा बेहोशी की हालात में छोडकर उन्मादी भाग गये.

जिस तरह से पिछले 7 दिनों के अंदर 7 साधुओं की ह्त्या की गयी है वो कहीं न कहीं इस बात का साफ़ संकेत हैं जिहादियों ने हिन्दू संतों के खिलाफ, हिन्दू समाज सुधारकों के खिलाफ जंग का एलान है तथा अभी तक गोमांस के भूखे रहे गौहत्यारे अव हिन्दू संतों के खून के प्यासे बन रहे हैं.

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!