Press "Enter" to skip to content

इन दोनों के केस वापस लेकर आजाद कर देना चाहते थे अखिलेश यादव, आज कोर्ट ने दोनों को दिया उम्रकैद

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
2007 Lucknow court blast case
2007 Lucknow court blast case

2007 Lucknow court blast case : अमर सिंह ने पिछले दिनों और सालों से देश के अन्य लोग समाजवादी पार्टी को नमाज़वादी पार्टी बताते आये है, वो ऐसे ही नहीं

ये पार्टी सिर्फ तुष्टिकरण करने वाली पार्टी नहीं है ये आतंकवाद परस्त पार्टी है, ये कितनी खतरनाक पार्टी है इसका अंदाजा शायद ही आप लगा सके, पर ये खबर देखकर आप इस पार्टी को नमाज़वादी कह बैठेंगे


2007 Lucknow court blast case में आज विशेष अदालत ने 2 को दोषी पाते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है, विशेष जज ने दोनों को 23 अगस्त को ही दोषी पाया था और आज इन दोनों को उम्रकैद की सजा दी है

इनमे एक है तारिक काजमी और दूसरा है मोहम्मद अख्तर, जज बबिता रानी की कोर्ट ने दोनों को देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने, अपराधिक साजिश रचने, विस्फोटक जमा करके इस्तेमाल करने का दोषी पाया और उम्रकैद की सजा दी

loading...

 

पर ये खबर इतने भर में ही ख़त्म नहीं हो जाती, जिन दोनों को आज जज ने लम्बी सुनवाई और सबूतों के बाद दोषी पाया है, ये काफी लम्बे समय से जेल में बंद है, और योगी सरकार से पहले उत्तर प्रदेश में सपा सरकार थी, और ये सरकार क्या करना चाहती थी, अगर आप भूल गए है तो ये अख़बार देखिये

Namazwadi Party
Namazwadi Party

कचहरी ब्लास्ट के इन दोनों आतंकवादियों के मुक़दमे वापस लेना चाहती थी सपा सरकार, पर इलाहबाद हाई कोर्ट ने ऐसा करने नहीं दिया, अखिलेश सरकार कह रही थी की कई निर्दोष मुसलमानों को फंसाकर जेलों में बंद किया गया है, उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है तो उन्हें जेलों से आजाद किया जाना चाहिए

loading...

 

जिस तारिक काजमी और मोहम्मद अख्तर को दोषी पाकर आज अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है, अखिलेश यादव ने इन दोनों को निर्दोष और मासूम बताया था जिन्हें फंसाकर जेल में बंद कर दिया गया था

अब आप अंदाजा लगा सकते है की मुसिम तुष्टिकरण करने के लिए अखिलेश यादव किस स्तर तक जा सकते है, ये आतंकवादियों को भी मासूम बताकर रिहा करने के चक्कर में थे, ये तो गनीमत रही की उस समय हाई कोर्ट ने इनकी मंशा पर पानी फेर दिया वरना 2 खूंखार आतंकवादी छोड़ दिए जाते

इस पार्टी को नमाज़वादी क्यों कहते है शायद अब आप समझ गए होंगे !

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!