Press "Enter" to skip to content

बाढ़, मदद, UAE के नाम पर थी 700 करोड़ के काले धन को सफ़ेद की तैयारी ? होनी चाहिए जांच

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
CPM planning to convert 700 crore black money to White ?
CPM planning to convert 700 crore black money to White ?

CPM planning to convert 700 crore black money to White ? : जिस तरह केरल बाढ़ को लेकर UAE द्वारा 700 करोड़ रुपए की मदद की पेशकश की गयी है, मामला सिर्फ इतना ही नहीं है जितना दिख रहा है

ये मामला सिर्फ मोदी तथा भारत को नीचा दिखाने तक ही सिमित नहीं लगता, क्यूंकि झूठ को किसी और ने नहीं बल्कि संविधानिक पद पर बैठे मुख्यमंत्री ने खुद फैलाया, उनकी पार्टी ने नेताओं ने नहीं बल्कि खुद CM ने झूठ फैलाया 


यानि एक राज्य सरकार ने इस झूठ को फैलाया, 700 करोड़ रुपए UAE ने पेशकश की है, जब ये खबर फैलाई जा रही थी, तो केंद्र सरकार के मंत्री भी ठीक से कुछ बोल नहीं पा रहे थे, उसका कारण ये था की कदाचित UAE की सरकार ने केंद्र को बिना बताये केरल की सरकार से बात की हो

loading...

 

उसके बाद भारत की सरकार ने UAE से इस मामले में संपर्क किया की आपने कोई 700 करोड़ का ऑफर इत्यादि किया है क्या, तो UAE के राजदूत ने आज भारत में साफ़ कर दिया की ऐसा कोई ऑफर उनके देश ने केरल बाढ़ को लेकर नहीं दिया

तो क्या केरल की राज्य सरकार सिर्फ मोदी और भारत को नीचा दिखाने के लिए 700 करोड़ का झूठ फैला रही थी, हमे ऐसा तो नहीं लगता की सिर्फ ये ही मकसद था, दाल में काफी कुछ काला है

अगले साल लोकसभा का चुनाव भी आना है और सीपीएम वो पार्टी है जिसके नेता नोटबंदी के समय बहुत परेशान हुए थे, नोट उनके भी बर्बाद हुए थे, जो काले थे, और लोकसभा चुनाव लड़ना है, जिसके लिए फण्ड तो चाहिए ही होता है, तो ये भी हो सकता है की 700 करोड़ के काले धन को सफ़ेद बनाने की योजना हो

loading...

 

मामला सिर्फ मोदी और भारत को नीचा दिखाने तक ही सिमित नहीं है, बल्कि बहुत कुछ काला है और बड़ी योजना बाढ़, UAE, मदद और 700 करोड़ के नाम पर बनाई जा रही हो, देश के लोगों के मन में भी ये सवाल है, क्यूंकि एक राज्य की सरकार स्वयं झूठ फैला रही थी, इस मामले की हाई लेवल जांच होनी चाहिए

हम जानते है की सीपीएम पार्टी या केरल सरकार इस मामले की ED, सीबीआई जैसी एजेंसी से जांच का विरोध करेगी, इसी कारण इस मामले की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में SIT बनाकर जांच की जानी चाहिए, ताकि लोगों को पता चल जाये की 700 करोड़ का झूठ फ़ैलाने के बीचे आखिर मकसद क्या था !

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!