Press "Enter" to skip to content

सेना को शैतान और आतंकी को निर्दोष बताने वाली कविता कृष्णन की तुरंत हो गिरफ़्तारी

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Kavita Krishnan on Indian Army
Kavita Krishnan on Indian Army

Kavita Krishnan on Indian Army : आप वर्तमान में भारत को महान और न जाने क्या क्या कह लीजिये, पर ये सब फर्जी बातें है बस सच तो ये ही है 

हमारे पड़ोस में ही ऐसे देश है जो हमसे काफी छोटे है, इकॉनमी भी बहुत छोटी है और सैन्य ताकत भी फिर भी वो हमारे देश से कई मामलों में बहुत बहुत बहुत अच्छे है, उदाहरण के लिए मयन्मार


पिछले दिनों एक अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़ एजेंसी रायटर्स के 2 पत्रकारों को म्यांमार ने जेल में डाल दिया वो भी 7-7 साल के लिए ऐसा इसलिए किया क्यूंकि दोनों म्यांमार की सेना पर अत्याचार के आरोप लगा रहे थे

म्यांमार ने दोनों को जेल में डाल दिया और वहां की शासक औंग सू कई ने इसका समर्थन भी किया, मानवाधिकर वालों ने बकवास की तो औंग सू कई ने ये तक कह दिया की 7-7 साल की जेल भी कम है

loading...

भारतीय सेना ने कश्मीर में आतंकी के खिलाफ कार्यवाही की, आतंकी के शव में सेना को ग्रेनेड, या विस्फोटक लगे होने का शक था, सैनिको की सुरक्षा के लिए सेना ने आतंकी के शव को उठाकर ले जाने की जगह उसके शव को चेन से खींचा 

पाकिस्तानियों ने ये मुद्दा सोशल मीडिया पर वायरल किया की देखो भारत की सेना मानवाधिकारों का हनन कर रही है, और पाकिस्तानियों के समर्थन और भारत की सेना के खिलाफ उतर गयी देश की राजधानी दिल्ली में रहने वाली कविता कृष्णन 

इसने आतंकी को आतंकी मानने से ही इंकार कर दिया और उसे “कश्मीरी मेन” बताया, जबकि ये आतंकी कश्मीरी नहीं पाकिस्तानी है, इसके अलावा इसने भारतीय सेना पर मानवाधिकारों के हनन की जैसे पुष्टि ही कर दी, और लिखती है की देखो ये इंडिया की आर्मी कश्मीरी मेन को घसीट रही है

ये देश की राजधानी दिल्ली में रहकर दुनिया को ये बता रही है की भारत की सेना कश्मीर के निर्दोष लोगों को घसीट रही है, भारत की आर्मी को ये हैवान बताकर आतंकी को निर्दोष बता रही है, आतंकी मानने से इंकार कर रही है, देश के खिलाफ पाकिस्तान का साथ देते हुए एक पाकिस्तानी आतंकी को कश्मीरी निर्दोष मेन बता रही है

loading...

इसके बाबजूद कविता कृष्णन पर कोई क़ानूनी कार्यवाही नहीं, इसके खिलाफ कोई देशद्रोह का मुकदमा नहीं जबकि ये खुलेआम भारत की सेना के खिलाफ नफरत, झूठ फैला रही है और पाकिस्तान की दलाली खुलकर कर रही है

म्यांमार हमसे वाकई काफी बेहतर देश है जहाँ गद्दारों का इलाज किया जाता है, हमारे देश में कविता कृष्णन जैसे अर्बन नक्सलियों को बुद्धिजीवी बताने का फैशन है, इन अर्बन नक्सलियों पर आखिर कब कार्यवाही होगी

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!