Press "Enter" to skip to content

आज है लाला जयदयाल का बलिदान दिवस, कर दिए गए है इतिहास के पन्नो से गायब, ये है असली बलिदानी

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Lala Jay Dayal
Lala Jay Dayal

Lala Jay Dayal : असल बलिदानियों को इतिहास के पन्नो से गायब ही कर दिया गया, और सिर्फ गाँधी नेहरु के फर्जी किस्सों को ही इतिहास के पन्नो में भर दिया गया 

आज 14 सितम्बर है पर कोई नहीं जानता लाला जयदयाल को, जो है अमर बलिदानी, जो है असली बलिदानी, हँसते हँसते झूल गए वो फांसी पर, आज उनका नाम तक कोई नहीं जानता, इतिहास की फर्जी किताबों से वो गायब है


लाला जयदयाल राजस्थान से संबंध रखते है, अंग्रेजी हमलावरों ने भारत के लगभग पुरे हिस्से पर कब्ज़ा जमा लिया था, बहुत से गद्दार भारतीय अंग्रेजों के साथ थे

कोटा का शासक भी अंग्रेजो के साथ था, और अंग्रेज भारत में भारतीयों का बड़े पैमाने पर कत्लेआम मचाते थे, और भारतीय महिलाओं का बलात्कार करते थे, जो महिला खुबसूरत नहीं होती थी उसे सीधे गोली मार देते थे, और जो महिला खुबसूरत होती थी उसका रेप पर स्तन काट दिया करते थे और उसे छोड़ देते थे ताकि भारतीय अपमानित होते रहे और डरकर जीते रहे

loading...

कोटा में एक ऐसा अंग्रेजी मेजर था जिसका नाम था बर्टन, ये बहुत ही बड़ा जानवर था, ये आये दिन अपने टोली के साथ निकलता और भारतीय गाँव में घुसता, फिर वहां पर लोगों पर अत्याचार करता

ये ऐसा इसलिए करता था ताकि पुरे इलाके में इसका नाम खौफ का नाम बना रहा और भारतीय डरकर अंग्रेजी सरकार को खूब टैक्स देते रहे, ये अक्सर अलग अलग गाँव में जाता और वहां जो महिलाएं खुबसूरत न होती उन्हें सीधे लाइन में खड़ा कर गोली मरवाता और खुबसूरत औरतों को उठाकर अपने छावनी ले जाता और रेप कर स्तन काटकर छावनी से फेंकवा देता

loading...

Lala Jay Dayal : कोटा का शासक भी इसका यार था, और खूब गद्दारी करता था, इसका अत्याचार भारतीय सह रहे थे, पर तभी एक ऐसा भारतीय जिसका नाम लाला जयदयाल था, उसने इसके खिलाफ आवाज बुलंद की और मौक़ा पाकर इस मेजर और इसके पुरे परिवार को मौत के घाट उतार दिया था

बाद में लाला जयदयाल को इसके लिए फांसी की सजा दी गयी और वो हँसते हँसते फांसी पर झूल गए, आज 14 सितम्बर के दिन ही उनको फांसी हुई थी, पर उन्होंने अंग्रेज जानवर बर्टन को ख़त्म कर कोटा और आसपास के भारतीयों को उसके अत्याचारों से आज़ाद करवाया, ऐसे वीर को हम आज नमन करते है, उन्हें श्रद्धांजलि देते है, ऐसे ही वीरों के बलिदान से भारत को आज़ादी मिली न की बिना खडग बिना ढाल वाले डाइलोग से 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!