Press "Enter" to skip to content

एक साधू को मुख्यमंत्री बनाओगे तो बर्बादी ही आएगी, साधू किस काम के होते है : अखिलेश यादव

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Akhilesh Yadav Insulted Hindu Sadhus
Akhilesh Yadav Insulted Hindu Sadhus

Akhilesh Yadav Insulted Hindu Sadhus : अखिलेश यादव ने आज साबित कर दिया की उनकी पार्टी को लोग नमाज़ वादी पार्टी क्यों कहते है, अखिलेश यादव के अनुसार हिन्दू साधू कचरा होते है वो किसी काम के नहीं होते 

दरअसल उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जो की एक महंत भी है, उन्होंने उत्तर प्रदेश में 4000 उर्दू टीचर की भर्ती को रद्द कर दिया, ये सभी भर्तियाँ अखिलेश यादव ने खुद की थी, वो भी सिर्फ मुस्लिम वोट बैंक को खुश करने के लिए जबकि उत्तर प्रदेश में हर 6 उर्दू पढने वालों पर पहले से 1 उर्दू टीचर है 


उर्दू टीचर पहले से उत्तर प्रदेश में जरुरत से कहीं ज्यादा है, फिर भी अखिलेश यादव ने चुनाव से पहले मुस्लिम वोट बैंक के लिए उत्तर प्रदेश में 4000 और उर्दू टीचर को भर लिया, अब योगी सरकार ने इन भर्तियों को रद्द कर दिया

loading...

इसपर अखिलेश यादव ने अपना असल रूप दिखा दिया, और अपनी घृणित मानसिकता के कारण उन्होंने घृणित बयान देते हुए कहा की – उत्तर प्रदेश में एक साधू को मुख्यमंत्री बनाओगे तो क्या होगा, बर्बादी ही आएगी साधू किस काम के होते है

अखिलेश यादव के अनुसार हिन्दू धर्म गुरु बर्बादी लाते है, हिन्दू धर्मगुरु किसी काम के नहीं होते, उनको मुख्यमंत्री नहीं बनाया जा सकता, मुख्यमंत्री तो सिर्फ नेता की औलादों को बनाया जा सकता है जैसे की अखिलेश यादव खुद है

loading...

अखिलेश यादव ने आज बयान देते हुए कहा की साधू किसी काम के नहीं होते, साधुओं को सत्ता से उखाड़ फेंको, अखिलेश ने साबित कर दिया की उनको नमाज़वादी नेता क्यों कहा जाता है, दुसरे धर्म के मजहब गुरु इनको काम के लगते है, इनको मौलाना मौलवी काम के लगते है, पर हिन्दू साधू किसी काम के नहीं

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!