Press "Enter" to skip to content

ब्रेकिंग – अयोध्या केस के लिए बनी नई बेंच, 1 इसाई जज को भी बेंच में किया गया शामिल, सावधान हिन्दू

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Bench for Ayodhya Case Bench for Ram Mandir Case
Bench for Ayodhya Case Bench for Ram Mandir Case

Bench for Ayodhya Case Bench for Ram Mandir Case : अयोध्या मसले को लेकर हिन्दू समाज को हर छोटी छोटी चीज पर नजर रखनी चाहिए, ये एक ऐसा मामला है जिसपर हम कोई रिस्क नहीं ले सकते 

भगवान् राम का मंदिर आजतक हिन्दुओ को नहीं मिल सका, जबकि आतंकवादी बाबर की कब्र काबुल में काफी विशाल और भव्य बनी हुई है, भव्य गार्डन बना हुआ है, दैनिक भारत के पाठकों को हमने बाबर की कब्र दिखाई भी दी


अयोध्या मसले में अब सुप्रीम कोर्ट में बिलकुल नई बेंच बना दी गयी है, 3 जजों की बेंच अयोध्या मसले पर फैसला देगी, इन 3 जजों में मुख्य जज रंजन गोगोई, जज SK कॉल और जज केएम जोसफ शामिल किये गए है, इस बेंच में एक इसाई जज को भी शामिल किया गया है

अयोध्या मसले में 2 ही पक्ष है एक मुस्लिम पक्ष है और एक हिन्दू पक्ष है – मुस्लिम पक्ष के वकीलों में कांग्रेस के वकील, कांग्रेस समर्थित वकील शामिल है, इस मामले में वामपंथी और यहाँ तक की पाकिस्तान में एक्टिव है

loading...

भले ही केंद्र और यूपी में बीजेपी की सरकार हो फिर भी हिन्दुओ को अयोध्या मसले पर सोना नहीं चाहिए, इस मामले में हर छोटी चीज पर आपको नजर रखनी चाहिए, जजों की पृष्ठभूमि को समझना चाहिए

  • रंजन गोगोई – ये पूर्व कांग्रेसी CM के बेटे है, और 4 बगावती जजों में ये भी शामिल थे, जो लोकतंत्र को खतरे में बता रहे थे, अब ये CJI है, इनके पिता और परिवार कांग्रेसी रहे है
  • SK कॉल – ये कश्मीरी मूल के है, इनके परिवार के लोग भी राजनीती में रहे है, इनके दादा जम्मू कश्मीर में मंत्री थे, इनका भी राजनितिक और सेक्युलर कनेक्शन रहा है
  • केएम जोसफ – ये एक इसाई है, और केरल के रहने वाले है, सुप्रीम कोर्ट में आने से पहले ये उत्तराखंड हाई कोर्ट में थे, जहाँ बीजेपी ने इनका विरोध किया था, इनके बीजेपी के साथ रिश्ते ठीक नहीं है, चूँकि बीजेपी इनका 1 बार विरोध कर चुकी है, ऊपर से ये विदेशी मजहब के है
loading...

अयोध्या मसले पर 2 जजों का परिवार राजनितिक रहा है, कांग्रेस से जुड़ा हुआ, और 1 जज इसाई है – हिन्दू समाज को हर बारीक़ चीज पर नजर रखना होगा, चूँकि अयोध्या मसले पर हम कोई रिस्क नहीं ले सकते, मामले की सुनवाई 29 अक्टूबर से होगी

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!