Press "Enter" to skip to content

गुरुग्राम : जज के बेटे और पत्नी पर धर्मांतरण के लिए दबाव बना रहा था गार्ड, विरोध किया तो करी हत्या

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Gurugram Judge wife and Son case
Gurugram Judge wife and Son case

Gurugram Judge wife and Son case : देश में मिशनरी आतंकवाद इस्लामिक आतंकवाद की तरह ही चरम पर है, गुरुग्राम में 13 अक्टूबर 2018 को एक जज की पत्नी और उनके बेटे को उनके गार्ड ने गोली मार दी 

मीडिया ने इस खबर को गोल मोल कर दिया, फैलाया गया की जज की पत्नी और बेटा उस गार्ड के साथ ठीक व्यवहार नहीं करते थे, इसलिए उसने इन दोनों को गोली मार दी, पर ये सिर्फ एक बकवास है असलियत कुछ और है, जिसे मीडिया और बुद्धिजीवी तत्वों ने गोल कर दिया, ये सीधा ईसाइयत आतंकवाद का मामला है


जिस गार्ड ने जज कृष्णकांत की पत्नी रेनू और उनके बेटे ध्रुव को गोली मारी वो इसाई था, जिसका नाम महिपाल है, महिपाल धर्मान्तरित इसाई है, और वो कई दिनों से जज की पत्नी और उनके बेटे के सामने ईसाइयत की तारीफ कर चमत्कारों की बात कर रहा था

loading...

महिपाल जज का गार्ड था और जज के परिवार और खासकर उनकी पत्नी रेनू और उनके बेटे ध्रुव के सामने जीजस, ईसाइयत, बाइबल का रोके जाने के बाद भी प्रचार कर रहा था, वो जज की पत्नी और जज के बेटे पर ईसाइयत अपनाने का दबाव बना रहा था, जिसका जज की पत्नी और उनके बेटे ध्रुव ने विरोध किया, जिसके बाद महिपाल ने दोनों को ईसाइयत अपनाने से इंकार करने पर गोली मार दी

Gurugram Judge wife and Son case
Gurugram Judge wife and Son case
loading...

जानकारी के मुताबिक एक इसाई मजहब गुरु को खुश करने के मकसद से महिपाल जज की पत्नी और बेटे को ईसाइयत में धर्मान्तरित होने के लिए कह रहा था, उनके सामने ईसाइयत की तारीफ कर अन्धविश्वास की बात कर रहा था

जब जज की पत्नी रेनू और उनके बेटे ध्रुव ने महिपाल पर ईसाइयत न थोपने के लिए कहा तो महिपाल ने दोनों को गोली मार दी, जज की पत्नी की मौत हो चुकी है, जबकि उनके बेटे की स्तिथि को लेकर कुछ साफ़ नहीं है, एक हिन्दू जज और उसके परिवार ने ईसाइयत में धर्मांतरण नहीं किया तो गोली मार दी गयी और उनकी पत्नी को मौत के घाट उतार दिया गया

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!