Press "Enter" to skip to content

उत्तर भारतीय भारत पर बोझ है, न होते उत्तर भारतीय तो ठीक होता : पी चिदंबरम, कांग्रेस

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
P Chidambaram on North Indians
P Chidambaram on North Indians

P Chidambaram on North Indians : उत्तर भारतीयों से कांग्रेस कितना नफरत करती है ये बात किसी से छिपी हुई नहीं है, और कांग्रेस उत्तर भारतीयों से इतना नफरत क्यों करती है इसका कारण भी है 

असल में जब देश आजाद हुआ तब कांग्रेस को उत्तर भारत बहुत पसंद था, क्यूंकि यहाँ की सारी सीट नेहरु इंदिरा को मिलती थी कांग्रेस जीत जाती थी, पर पहले उत्तर प्रदेश और फिर बिहार से कांग्रेस साफ़ हो गयी, अब उत्तर प्रदेश और बिहार साथ में झारखण्ड मतलब लोकसभा की 134 सीट, कांग्रेस इन 134 सीट से गायब हो चुकी है


और उत्तर भारतीयों के प्रति कांग्रेस की नफरत का ये सबसे बड़ा कारण है – कांग्रेस महाराष्ट्र में शिवसेना बीजेपी को नुक्सान पहुंचाने के लिए राज ठाकरे को खड़ा करती है, महाराष्ट्र में कांग्रेस उत्तर भारतीयों को मरवाती है, अब ये काम गुजरात में कांग्रेस कर रही है

loading...

कांग्रेस द्वारा उत्तर भारतीयों पर गुजरात में हो हमले किये गए है इसे लेकर देश में चर्चा हो रही है और इसी बीच एक बड़ा खुलासा हुआ और खुलासा भी काफी गंभीर

ये खुलासा बड़े कांग्रेस नेता पी चिदंबरम को लेकर हुआ जो की देश का गृहमंत्री और देश का वित्तमंत्री भी रह चूका है, और कल को कांग्रेस की सरकार बनती है तो ये फिर गृहमंत्री या वित्तमंत्री बन सकता है

पी चिदंबरम ने भारत का केन्द्रीय मंत्री रहते हुए 2009 में एक विदेशी शख्स को कहा की – भारत पर उत्तर भारतीय लोग बोझ है, अगर उत्तर भारतीय लोग भारत में न होते तो ज्यादा अच्छा होता, अब हमे इस बोझ को ढोना पड़ता है और इस बोझ को लेकर चलना पड़ता है, उत्तर भारतीयों का बोझ लेकर चलना आसान नहीं है

loading...

2009 में केन्द्रीय मंत्री रहते हुए चिदंबरम ने ये बात तत्कालीन अमरीकी राजदूत टिमोथी रोएमेर को कही थी, चिदम्बरम और अमेरिकी राजदूत के बीच बात हो रही थी तब उसने उत्तर भारतीयों को भारत पर बोझ बताया था 

P Chidambaram on North Indians
P Chidambaram on North Indians

जब इस बात का खुलासा हुआ तो लोकसभा में भी इसे लेकर हंगामा हुआ था, तब चिदम्बरम के बयान पर सरकार से सफाई भी मांगी गयी थी, चिदम्बरम की इस हरकत पर देश की संसद में भी चर्चा हुई थी, पर देखिये मीडिया का खेल

loading...

P Chidambaram on North Indians : उस समय सोशल मीडिया था नहीं और मीडिया ने ये चीज देश को बताई नहीं जबकि ये मामला संसद में भी चर्चा का विषय बना था, मीडिया ने इस मामले को उस समय दबा दिया, तभी देश के अधिकतर लोग ये नहीं जानते की चिदंबरम ने उत्तर भारतीयों के खिलाफ केन्द्रीय मंत्री रहते हुए किस तरह की नफरत से भरी हुई बयान बाजी की थी वो भी एक विदेशी राजदूत के सामने

आज सोशल मीडिया है तभी आपके सामने कई प्रकार की जानकारियां आती है, सोशल मीडिया न होता तो मीडिया आपको कितना गुमराह किया करती थी, कितनी चीजें छुपाई जाती थी इसका आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते

कांग्रेस के डीएनए में ही उत्तर भारत को लेकर नफरत है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!