Press "Enter" to skip to content

केरल – CPM सरकार द्वारा हिन्दुओ का जबरजस्त दमन, 1400 अयप्पा भक्तों को किया गिरफ्तार

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Pinyari Vijiyan declared war against Hindus
Pinyari Vijiyan declared war against Hindus

Pinyari Vijiyan declared war against Hindus : केरल में सीपीएम की सरकार ने हिन्दुओ का दमन शुरू कर दिया है, मुख्यमंत्री पिनयारी विजियन ने केरल पुलिस के वरिष्ट अधिकारीयों के साथ मीटिंग की 

जिसके बाद अब राज्य भर से 1400 हिन्दुओ को गिरफ्तार किया गया है, ये सभी हिन्दू सबरीमाला मंदिर के भक्त है, 2000 के आसपास हिन्दुओ पर केरल की सरकार ने कई मामले भी दर्ज कर दिए है, और 1400 को गिरफ्तार कर लिया है


बड़े पैमाने पर हिन्दुओ का भयानक दमन केरल में चालू हो गया है, देश की मीडिया भी वामपंथियों द्वारा ही संचालित है, कुछ मीडिया वाले हिन्दुओ को अपराधी की तरह पेश कर रहे है और उनके दमन को उचित ठहराया जा रहा है

loading...

पिछले दिनों सबरीमाला मंदिर को लेकर SC के आदेश के बाद हिन्दुओ ने मंदिर की रक्षा की, SC के आदेश के खिलाफ कोई और नहीं बल्कि हिन्दू महिलाएं ही सड़कों पर निकली थी, दुसरे मजहब की महिलाओं ने मंदिर में उत्पात मचाने की कोशिश की थी जिनकी मदद केरल की पुलिस ने भी की

किसी तरह अयप्पा भक्तों और पुजारियों ने मंदिर की रक्षा की, और अब मंदिर कुछ दिनों के लिए बंद है – अब केरला के मुख्यमंत्री ने मंदिर की रक्षा करने वाले अयप्पा भक्तों का भयानक दमन शुरू कर दिया है, ताकि जब मंदिर खुले तो हिन्दुओ के मन में ऐसा खौफ हो की कोई मंदिर की रक्षा के लिए सामने न आये

loading...

सीपीएम एक वामपंथी पार्टी है जिसके लोग दिल्ली में चिल्लाते है की लोकतंत्र खतरे में है, संविधान खतरे में है, अभिव्यक्ति की आज़ादी खतरे में है, जबकि केरल में जहाँ इनकी ही सरकार है वहां 1400 हिन्दुओ को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य हिन्दुओ की गिरफ़्तारी की कार्यवाही की जा रही है

केरल सरकार द्वारा 1400 हिन्दुओ की गिरफ़्तारी पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष पीएस श्रीधरन पिल्लई ने कहा है की वो इस मामले को केरल हाई कोर्ट में ले जायेंगे, सीपीएम की सरकार हिन्दुओ का भयानक रूप से दमन कर रही है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!