Press "Enter" to skip to content

भारत ने मानवाधिकारों की धज्जियाँ उड़ा दी, कितने दुःख की बात है 7 रोहिंग्यों को भगा दिया : प्रशांत भूषण

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Prashant Bhushan on 7 Rohingyas
Prashant Bhushan on 7 Rohingyas

Prashant Bhushan on 7 Rohingyas : प्रशांत भूषण ने भारत देश पर मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगा दिया, और आज के दिन को सबसे दुखद दिन बता दिया 

दरअसल केंद्र सरकार ने रोहिंग्यों के खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दी है और इसी के तहत सरकार ने 7 रोहिंग्यों को पकड़कर म्यांमार बॉर्डर भेजा, आज रोहिंग्यों को म्यांमार के हवाले कर दिया गया, वो सभी म्यांमार से घुसबैठ कर भारत में घुसे थे


केंद्र सरकार के फैसले के बाद रोहिंग्यों के वकील प्रशांत भूषण ने CJI रंजन गोगोई के सामने अर्जेंट याचिका लगाई थी और मांग करी थी की सरकार के फैसले पर कोर्ट रोक लगा दे

प्रशांत भूषण ने कहा था की – अगर रोहिंग्या मर गए तो कौन जिम्मेदार होगा, किसी भी रोहिंग्या को निकाला नहीं जा सकता, साथ ही प्रशांत भूषण ने CJI रंजन गोगोई से ये कहा की – रोहिंग्यों को बचाना आपकी जिम्मेदारी है

loading...

रंजन गोगोई ने प्रशांत भूषण की याचिका को रद्द कर दिया और साथ ही प्रशांत भूषण को लताड़ते हुए कहा की – मिस्टर भूषण अब तुम मुझे मत बताओ की मेरी जिम्मेदारी क्या है और क्या नहीं

प्रशांत भूषण को लताड़ लगी तो अब प्रशांत भूषण ने भारत देश पर ही रोहिंग्यों को लेकर हमला कर दिया है

प्रशांत भूषण ने SC से लताड़े जाने के बाद कहा की – आज बहुत दुखद दिन है, सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को रोका नहीं और सरकार ने 7 रोहिंग्यों को निकल दिया, भारत ने संयुक्त राष्ट्र और मानवाधिकारों की धज्जियाँ उड़ा दी

loading...

प्रशांत भूषण ने फिर कहा की – म्यांमार रोहिंग्यों को यातना देगा उन्हें मार देगा, प्रशांत भूषण ने रोहिंग्यों के पक्ष में भारत देश पर मानवाधिकारों के हनन का आरोप लगा दिया

वैसे प्रशांत भूषण का दुःख वाजिब है, ये रोहिंग्यों के वकील है, इनको इस बात की फ़िक्र ज्यादा है की रोहिंग्यों का क्या होगा, हालाँकि इन्होने आजतक अपने आलीशान घर में 1 भी रोहिंग्या को शरण नहीं दी है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!