Press "Enter" to skip to content

आतंकी मन्नान वानी के लिए AMU में पढ़ी जा रही नमाज़, रखी जा रही शोक सभा, सभी उन्मादी पढ़े लिखे

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
prayers for Mannan wani in AMU
prayers for Mannan wani in AMU

prayers for Mannan wani in AMU : इस्लामिक आतंकवादी मन्नान वानी को भारतीय सेना ने कुपवाड़ा में ठोक कर आज़ादी दे दी, मन्नान वानी कश्मीरी था साथ ही वो अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का पीएचडी स्टूडेंट भी था 

मन्नान वानी को ठोके जाने पर अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में कट्टरपंथी बौखलाए हुए है, और हद तो तब हो गयी जब कट्टरपंथियों ने अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में मन्नान वानी के लिए शोक मनाया और उसके लिए नमाज़ पढ़ी, जैसे वो एक शहीद हो और इस्लाम के लिए उसने जान दे दी हो


इस मामले में राष्ट्रवादियों के दबाव के चलते AMU ने 3 मुस्लिम छात्रों को ससपेंड भी किया है, जैसे ही मन्नान वानी को ठोके जाने की खबर AMU में फैली, कट्टरपंथियों ने AMU के कैनेडी हॉल में मन्नान वानी के लिए शोक सभा का आयोजन किया और उसके लिए नमाज़ पढ़ी

loading...

राष्ट्रवादियों के दबाव और प्रदेश में योगी तथा केंद्र में मोदी सरकार के होने के कारण AMU को कट्टरपंथियों के खिलाफ कार्यवाही करनी पड़ी और प्राप्त जानकारी के अनुसार 3 कट्टरपंथी छात्रों को AMU ने ससपेंड किया है

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें की अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का प्रशासन भी कट्टरपंथियों द्वारा ही चलाया जाता है इसलिए ये सस्पेंशन सिर्फ एक दिखावा है, मामला शांत होने के बाद सस्पेंशन भी ख़त्म हो जायेगा


अब भी कई उन्मादी आतंकी के लिए नमाज़ पढना चाहते है और शोक सभा रखना चाहते है, यूनिवर्सिटी में इसे लेकर तनाव की स्तिथि है, देश में सेकुलरिज्म के कारण ऐसी यूनिवर्सिटी देश की छाती पर टिकी हुई है जहाँ पर आतंकवादी निकलते है, आतंकवादियों के लिए नमाज़ होता है, और शोक सभा रखी जाती है

loading...

इस से पहले भी इसी यूनिवर्सिटी में जिन्नाह की फोटो को लेकर भी बवाल हुआ था, और इस यूनिवर्सिटी ने जिन्नाह की तस्वीर को हटाया नहीं, ये यूनिवर्सिटी भारत के टैक्स के पैसे से ही चलती है, सरकार को कठोर होने की जरुरत है, चूँकि जिस तरह यहाँ का एक पीएचडी छात्र आतंकी निकला, और उसके ठोके जाने पर यहाँ उसके लिए शोक सभा रखी गयी

साफ़ है की अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में अभी और भी बहुत से मन्नान वानी बैठे हुए है और कब और आतंकी इस यूनिवर्सिटी से निकलेंगे कहा नहीं जा सकता

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!