Press "Enter" to skip to content

अमनेस्टी इंटरनेशनल ने सूकी से अवार्ड लिया वापस, सूकी ने कहा – इस्लामी आतंकवाद का सयाफा जारी रहेगा

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Amnesty International strips award from Aung san suu kyi
Amnesty International strips award from Aung san suu kyi

Amnesty International strips award from Aung san suu kyi : दुनिया भर में कथित रूप से मानवाधिकारों के लिए काम करने वाली अमनेस्टी इंटरनेशनल  ने म्यांमार की औंग सन सूकी को दिया गया अपना सबसे बड़ा अवार्ड वापस ले लिया है 

अमनेस्टी इंटरनेशनल ने सूकी को अपना सबसे बड़ा अवार्ड दिया था, पर सूकी द्वारा आतंकवाद के खिलाफ की गयी कार्यवाही को लेकर अमनेस्टी इंटरनेशनल ने उनको दिया अपना अवार्ड वापस ले लिया है


कुछ दिनों पहले अमनेस्टी इंटरनेशनल ने सूकी को चेतावनी दी थी की वो रोहिंग्यों के खिलाफ सॉफ्ट हो जाये वरना उनका अवार्ड वापस ले लिया जायेगा, सूकी ने अमनेस्टी इंटरनेशनल को ठेंगा दिखाते हुए कहा था की – किसी भी अवार्ड के लिए देश की सुरक्षा से समझौता नहीं करुँगी

loading...

अब सूकी का अवार्ड अमनेस्टी इंटरनेशनल ने वापस ले लिया है, अवार्ड लेते हुए अमनेस्टी इंटरनेशनल ने कहा की औंग सन सूकी इस अवार्ड के लायक ही नहीं थी, उन्होंने सूकी को अवार्ड देकर गलती करी, और अब उन्होंने उनको दिया अवार्ड वापस ले लिया है

इस मामले पर सूकी का कहना है की – ऐसे अवार्ड आते जाते रहते है, पर इस से उनको कोई परवाह नहीं है, वो अपना काम और मजबूती से करेंगी और इस्लामिक आतंकवाद से देश को बचाने के लिए हर तरह के जरुरी कदम उठाये जाते रहेंगे

सूकी का ये भी कहना है की जब से वो इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ लड़ रही है तभी से विदेशी शक्तियां उनपर दबाव बना रही है पर वो किसी भी दबाव में नहीं आएँगी, क्यूंकि उनके लिए उनका देश पहले है न की अवार्ड्स

loading...

वैसे आपको बता दें की अमनेस्टी इंटरनेशनल खुद ही एक दलाल संगठन है, ये दिखावे के लिए मानवाधिकार के काम करता है, पर इसका असली काम इस्लामिक आतंकवादियों की पैरवी करना है, भारत में भी अमनेस्टी इंटरनेशनल इस्लामिक आतंकवादियों की पैरवी करता रहा है, ये मूल रूप से एक ब्रिटिश संगठन है जिसका मुख्य काम ही मानवाधिकारों के नाम पर आतंकवादियों की दलाली करना है

 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!