Press "Enter" to skip to content

पाकिस्तान आज भिखारी है, उसका सबसे बड़ा कारण है 2016 में मोदी द्वारा की गयी नोटबंदी

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Bhikhari pakistan because of demonetization by Modi
Bhikhari pakistan because of demonetization by Modi

Bhikhari pakistan because of demonetization by Modi : पाकिस्तान आज एक भिखारी देश है, इसके बहुत से कारण है, पर इसका सबसे बड़ा कारण है मोदी द्वारा साल 2016 में भारत में की गयी नोट बंदी 

इसी के कारण पाकिस्तान का सबसे बड़ा धंधा बंद हो गया, पाकिस्तान का सबसे बड़ा धंधा था भारत के जाली नोट बनाना और भारत में उसे भेजना, आप अगर ये सोचते है की पाकिस्तान फ्री में भारत में नोट भेजता था तो आपको कुछ नहीं पता


पाकिस्तान में जाली नोटों की फैक्ट्री थी, भारत के 500 और 1000 के नोट इतने सुरक्षित नहीं थे, उनको कॉपी करना आसान था, पाकिस्तान जाली नोट छापता और भारत में जाली नोटों के धंधेबाजो को असली भारतीय रुपए के बदले वो नोट देता, उदाहरण के तौर पर 100 रुपए का नकली  नोट 30 रुपए, 50 रुपए के असली भारतीय रुपए के बदले

फिर उस असली भारतीय रुपए को पाकिस्तान एक्सचेंज करवाया करता था, ये ही पाकिस्तान की इकॉनमी का एक मुख्य श्रोत ही बन गया था, अब आपको हम संजय द्विवेदी जी की वाल से उनके द्वारा लिखा पोस्ट दिखाते है, नीचे अब हम उनके वाल से सब कॉपी कर रहे है, हमने उसमे कोई एडिटिंग नहीं की है

loading...

Bhikhari pakistan because of demonetization by Modi : नोटबन्दी अंततः पाकिस्तान के हाथ मे खाली कटोरा पकड़ा गयी …
(दो साल पहले लिखा गया पोस्ट.)

नोटबंदी …
यानी नोटशुद्धि का कल दूसरा वर्ष था ..

इस पर 6 दिसंबर 2016 को यह पोस्ट लिखा था ..
इसका ABP न्यूज़ ने वायरल सच भी किया था …..
.
पाकिस्तान में छपने वाले नक़ली भारतीय नोटों की सप्लाई करने वाले सरगना जावेद खनानी ने कराची के साइना टावर से कूद के आत्महत्या कर लिया।
वो कराची में Khanani & Kalia International नामक मुद्रा बदलने के व्यवसाय की आड़ में नकली भारतीय मुद्रा को भारत में भेजने का काम करता था।
वो दाऊद इब्राहम, ISI, लश्कर और हक्कानी समूह के लिए धन जुटाता था और हवाला के जरिये नकली भारतीय नोट भारत में भेजता था।

8 नवम्बर को ISI के पास लगभग भारत में उपलब्ध नोट के लगभग बराबर मुद्रा छापने का कच्चा माल उपलब्ध था जो कि 8 नवम्बर रात से कचरे का ढेर बन गया था।

जावेद खनानी ही वो था जिसने दाऊद के नेटवर्क के जरिये 40000 करोड़ की नकली मुद्रा भारत में डाल चुका था।
आत्महत्या करने के समय उसके पास 20000 करोड़ की नकली भारतीय मुद्रा मौजूद थी ……
.
…. जावेद खनानी के मौत को पाकिस्तान की एजेंसियों ने छिपा रखा है …
और इसमें कोई पड़ताल नहीं कर रहा क्योंकि इस नेटवर्क के बाहर आते ही पाकिस्तान का अंतरराष्ट्रीय शाख पर एक और तगड़ा बट्टा लगता।
कराची के Additional IG मुश्ताक़ मेहेर ने बताया कि इमारत से कूदने के बाद पहले वो बिजली के तारों में फँस गया और फिर नीचे गिर के मर गया। …..

loading...

Bhikhari pakistan because of demonetization by Modi : मोदी ने जनता और देश को रस्ते लगने से बचाने के लिए जनता से लाइन लगवाई है …
थोड़ा धैर्य बनाए रखें …
अभी 30 दिसंबर दूर हैं ..
अभी केंचुए मरे हैं …
ये नोटबंदी अभी बहुत बड़े बड़े अजगरों का अंत करने वाली है …
,
आज ये भी जोड़ रहा हूँ कि पाकिस्तान के दीवालिया होने के कगार पर पहुँचने के लिए नोटबंदी भी एक बड़ा कारण है …
भारत में नकली नोट सप्लाई के दम पर पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था औंधे मुँह गिर गई …

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!