Press "Enter" to skip to content

देश में कानून का पालन होना चाहिए या नहीं, अगर कोई गैरक़ानूनी तरीके से घुसा है तो उसे डिपोर्ट किया जाना चाहिए : जनरल बिपिन रावत

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
    Bipin Rawat on Illegal immigrantsBipin Rawat on Illegal immigrants

Bipin Rawat on Illegal immigrants : भारत कानून से चलने वाला, संविधान से चलने वाला एक देश है, पर सेकुलरिज्म और वोट बैंक की राजनीती के कारण कानून का पालन नहीं होता तो देश तो बर्बाद होगा ही 

हर देश के अपने कानून होते है, भारत के भी अपने कानून है, और भारत का स्पष्ट कानून है की अगर किसी विदेशी नागरिक हो, भारत आना हो तो उसे वीजा के लिए अप्लाई करना होता है, वीजा लेकर वो भारत आ सकता है, कुछ देश है जिनके साथ भारत की संधि है जैसे की नेपाल, वहां वीजा की जरुरत नहीं है


पर बांग्लादेश, मयन्मार से किसी को आना हो तो वीजा जरुरी है, और एक सभी देश को अपने कानून का पालन करना ही चाहिए, कानून का पालन नहीं होता तो देश की बर्बादी होती ही है, और घुसबैठियों के कारण भारत बर्बाद हो ही रहा है

loading...

वोट बैंक की राजनीती करने वालो ने भारत को बर्बाद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत एक ऐसे शख्स है जो कड़ी बात बोलते है, और उनकी बातें देश के सेक्युलर नेताओं को अच्छी नहीं लगती

बंगलादेशी और रोहिंग्या घुसबैठियों के मुद्दे पर जनरल बिपिन रावत ने एक निजी न्यूज़ चैनल टाइम्स नाउ से बात करते हुए बड़े स्पष्ट शब्दों में अपनी राय रखी

जनरल रावत ने कहा की – भारत कानून से चलने वाला देश है, भारत में कानून का पालन होना चाहिए या फिर नहीं होना चाहिए, कोई विदेशी नागरिक अगर गैर क़ानूनी तरीके से भारत के अन्दर घुसता है, तो उसे फ़ौरन डिपोर्ट किया ही जाना चाहिए, अगर देश में कानून का पालन नहीं होगा तो देश क्या भलाई की ओर जायेगा ?

loading...

आपकी जानकरी के लिए बता दें की बीजेपी की असम सरकार ने अवैध घुसबैठियों के खिलाफ एक ड्राफ्ट तैयार किया था, इसके अलावा पिछले दिनों कई रोहिंग्यों को भी मोदी सरकार ने डिपोर्ट किया था, इसका देश के सेकुलरों ने जमकर विरोध किया है

अभी इस देश में 7 करोड़ के आसपास अवैध घुसबैठिया रह रहे है जिसके कारण भारत कई समस्याओं से जूझ रहा है, और इन घुसबैठियों को बाहर निकाला ही जाना चाहिए, सेना प्रमुख का बयान स्वागतयोग्य है, हालाँकि देश के सेकुलरों ने अभी से इसका विरोध भी शुरू कर दिया है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!