Press "Enter" to skip to content

ऐसी गलती न हो की भविष्य में देश फिर रोये की, काश मोदी और 5 साल PM रहते

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Dont repeat Mistake
Dont repeat Mistake

Dont repeat Mistake : राम मंदिर नहीं तो भाजपा को वोट नहीं का नारा शोशल मीडिया में वही लगा रहे हैं जिन्होंने बाबरी ढांचे को गिराने पर कल्याण सिंह को हराया था और कार सेवकों पर गोलियां बरसा कर हत्या करने वाले मुलायम सिंह को सत्ता थमाया था।

भाजपा को वोट नही दे तो फिर नही मतदाता जिनको भी वोट दे,उनसे उनका काम पूछ लें और हमारी सरकार,आपकी सरकार ,बीजेपी सरकार,नरेन्द्र मोदी जी की सरकार,एक ऐसे हिन्दू शेर की सरकार जिन्होंने भारत को विश्वगुरु बनाने का सपना देखा,और उन सपनों को पूरा करने के लिए एक के बाद एक चौकाने वाली उपलब्धियां भारत को दिलाने वाली सरकार की चार वर्ष कुछ महीने से कर लें।


मतदाता वन्धुओ को वयस्क मताधिकारी होने के नाते उन्हें स्वेच्छा से वोटिंग करने का अधिकार है।लेकिन आप गौर से देखिएगा, एक बार दिमाग पर जोर दीजिएगा तो आपको कमल का ही निशान याद आएगा।

और नोटा वालो से मेरा अपील है कृपया झांसे में न आवे जो लोग आपका नेता है वही लोग आपको अबतक शिक्षित नही होने दिया,वही लोग आपका अधिकार छिनता रहा क्या समानता का अधिकार आपको को सामान्य समाज से अलग कौन करता है आपका नेता,बुरा नही मानेंगे ये उन लोगो के लिए है जिनको उनके ही समाज का लोग उन्हें बहुत सारे अधिकारों से वंचित रखने में कोई कसर नही छोड़ते है।

loading...

ऐसे लोग आपका एक और अधिकार छिनने का प्रयास कर रहा है,वयस्क होने होने पर भारत सरकार द्वारा आपको वोट गिराने का अधिकार देती है,अब बताईये आप जब नोटा दबाएंगे तो आपका वोट गया पानी मे और आपका अधिकार छीनने वाले अपनी मनसा के अनुरूप अपना काम बनाने में सफल हो गया।

ऐसे लोगो के झांसे में नही आवे और अपना वयस्क मताधिकार का प्रयोग कर एक सुखी,समृद्ध ,शक्तिशाली, विशाल,और प्रतिष्ठित राष्ट्र का निर्माण कर सके,जो गरीबो का हितैसी,महिला उत्थान करता, उत्तम राष्ट्र निर्माण के लिए अपने भारत माँ को अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले को आगामी लोकसभा चुनाव में अपना प्रधानमंत्री ही नही प्रधानसेवक चुनिए।

अब बात रही राम मंदिर बनवाने की तो ये तो यू बनाया जा सकता है।लेकिन भारतीय होने के नाते भारतीय सर्वोच्च न्यायालय को सम्मान किया जा रहा है, नहि श्रीराम जी का मंदिर बनवाने के लिए भगवा दल ही काफी है।

loading...

Dont repeat Mistake : आज हम अक्सर रोते है की काश नेहरु की जगह पटेल हमारे प्रधानमंत्री होते तो देश की सूरत कुछ और होती, आज हम चीन से कोसो आगे होते, हम आज वर्तमान में ऐसी गलती न करे की आने वाले समय में देश रोये की काश मोदी और 5 साल प्रधानमंत्री रहते

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!