Press "Enter" to skip to content

एक देश ने तो की हिम्मत – यहाँ गाँधी को घोषित किया गया आतंकी, गाँधी की मूर्ति के निर्माण पर रोक

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Gandhi must fall campaign in Malawi
Gandhi must fall campaign in Malawi

Gandhi must fall campaign in Malawi : अफ्रीका के एक देश में एक अदालत ने मोहनदास गाँधी को आतंकी घोषित करते हुए उसकी मूर्ति के निर्माण पर रोक लगा दी है

अफ्रीका के देश मलावी में गाँधी के मूर्ति के निर्माण की योजना थी, गाँधी के मूर्ति को स्थापित किया जाना था, पर जैसे ही जनता को इसकी जानकारी लगी गाँधी की मूर्ति का विरोध शुरू कर दिया गया


गाँधी के मूर्ति के विरोध में लोगों ने एक कैंपेन ही शुरू कर दिया जिसका नाम रख दिया गया “गाँधी मस्ट फॉल” यानि की गाँधी गिरना चाहिए, इस कैंपेन को जल्दी ही काफी लोगों का समर्थन मिल गया

loading...

गाँधी की मूर्ति मलावी के ब्लांटायर शहर में लगाई जा रही थी, जिसके बाद इसके विरोध में कैंपेन शुरू हुआ, लोगों ने इसे लेकर कोर्ट में याचिका दायर की और गाँधी के मूर्ति के निर्माण पर रोक लगाने की मांग करी

याचिका की सुनवाई करते हुए न्यायाधीश माइकल तेम्बो ने गाँधी के मूर्ति के निर्माण की योजना पर रोक लगा दी, और गाँधी को एक आतंकी घोषित कर दिया

Gandhi must fall campaign in Malawi
Gandhi must fall campaign in Malawi

लोगों का कहना है की गाँधी एक नस्लवादी व्यक्ति था, और उसने मलावी के लोगों में खौफ भरने का काम किया, और मलावी में गाँधी की मूर्ति का लगाया जाना मलावी की जनता का अपमान है, गाँधी मस्ट फॉल कैंपेन में 3600 लोगों ने गाँधी के खिलाफ हस्ताक्षर भी किये है, लोगों ने कोर्ट को 18 कारण बताये जिसकी वजह से गाँधी की मूर्ति मलावी में नहीं लग सकती, कोर्ट ने भी लोगों की मांग को सही पाया और गाँधी की मूर्ति के निर्माण पर रोक लगा दी

loading...

Gandhi must fall campaign in Malawi : आपकी जानकारी के लिए बता दें की फर्जी इतिहास की किताबों में आपको रटाया जाता है की गाँधी अहिंसा का पुजारी था, ये 100% झूठ है, गाँधी जब अफ्रीका में था तो उसने अंग्रेजी (गोरी) सेना में काम भी किया था, और अंग्रेज अफ्रीका के लोगों (कालों) पर अत्याचार करते थे, गाँधी ने अफ्रीका के लोगों के खिलाफ अंग्रेजी सेना में रहकर युद्ध भी लड़े थे, अफ्रीका के लोगों पर अत्याचार करने वालो में गाँधी भी शामिल था, इसी कारण मलावी में लोगों ने गाँधी का विरोध किया

ये घटना भारत के लोगों के लिए भी एक सीख है, मलावी में गाँधी ने अत्याचार किये तो लोगों ने एकजुट होकर उसकी मूर्ति नहीं लगने दी, भारत में तो बाबर, अकबर, औरंगजेब जैसे आतंकवादियों ने भयानक आतंक मचाया फिर भी उनके नाम के हजारों स्मारक भारत में आज भी बनी हुई है, उनकी शानदार कब्रें बनी हुई है 

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!