Press "Enter" to skip to content

जार्ज हैरिसन – म्यूजिक वर्ल्ड के स्टार, जो सनातन धर्म को जानते ही बन गए वैदिक हिन्दू

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
george harrison Hindu
george harrison Hindu

george harrison Hindu : बीटल्स म्यूजिकल ग्रुप के “गिटार वादक” जार्ज हैरिसन ने जब सितार के बारे में जाना, तब वे पंडित रवि शंकर जी के पास सितार सीखने आये…… और वे रवि शंकर जी से इतने प्रभावित हुए की वे शुद्ध शाकाहारी और वेद मंत्रोच्चारी हिन्दू हो गए…….. (दैनिक भास्कर, दिनांक 13 दिसंबर) …

अब बात समझ नहीं आ रही है…. मैं इसे किसकी तारीफ समझू…… सितार की …या रवि शंकर जी की या फिर हिन्दू धर्म की…. या तीनों की, जॉर्ज हैरिसन ने 1966 में भारत का दौरा किया था और तब वे 23 साल के थे। हिन्दू बनने के बाद जॉर्ज हैरीसन् से पंडित रवि शंकर की मित्रता और प्रगाढ़ हुई और वे पश्चिमी जगत में भारतीय संगीत का प्रसार प्रचार करने लगे।


जॉर्ज हैरीसन् जी ने लाखों इसाइयों को हिन्दू बनाया और अपना सारा जीवन हिन्दू धर्म के प्रसार के लिए समर्पित किया। जॉर्ज हैरीसन् इंग्लैंड के सबसे अमीर वादक में से एक थे । उन्होने अपनी सारी संपत्ति हिन्दू धर्म को दान मे दे दी।

जॉर्ज हैरिसन ने इंग्लैंड के Watford शहर में अपनी 70 एकड़ जमीन और महल जैसा घर भगवान श्री कृष्ण को दान कर दिया जिसमे यूरोप का सबसे बड़ा मंदिर बना हुआ है। हम सब हिन्दू अपने सभी त्योहार इसी मंदिर में मनाते हैं।

loading...

george harrison Hindu : जॉर्ज हैरिसन द्वारा दान किया हुआ यह हिन्दू मंदिर अब वैदिक साहित्य, कृष्ण उपदेशों व शिक्षा का यह अप्रतिम केंद्र आज लाखों विदेशियों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

एक सर्वे के अनुसार लंदन के पर्यटन प्रतीकों में प्रथम स्थान लाल डबर-डेकर बस का है, दूसरे स्थान पर पुराने मॉडल की काली टैक्सी है तो तीसरे स्थान पर इसकॉन भक्त हैं

george harrison Hindu
george harrison Hindu

लंदन के ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट को इसकॉन भक्त रोज शाम को जीवंत कर देते हैं । प्रतिदिन बड़ी संख्या में पर्यटक और भक्त उत्साह से भारतीयों और विदेशियों के मिले-जुले इसकॉन संकीर्तन समूह को देखने के लिए इकट्ठे होने लगते हैं जो रूहानी संगीत को तालबद्ध नृत्य के संग प्रस्तुत करते हैं।

लंदन की विविधतापूर्ण संस्कृति का इसकॉन एक प्रशंसनीय अंग है और उनके समूह द्वारा रचित नैसर्गिक दृश्य दर्शनीय होता है जो सेन्ट्रल लंदन के रेस्तरांओं और नाइट क्लबों के आगे से होकर प्रसिद्ध लेस्टर-स्क्वायर की ओर बढ़ता है। पर्यटक, व्यापारी, भक्त, दुकानदार सभी इसकॉन समूह को देखने की प्रतीक्षा करते हैं। संसार भर में इसकॉन की आध्यात्मिक गतिविधियों ने हजारों का ध्यान आकर्षित किया है, चाहे वे आस्तिक हों या नास्तिक।

george harrison Hindu : ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट पर बिताई संध्या ने हमारी भक्ति वेदांत मैनर की यात्रा की अगवानी की। असाधारण संस्कृत और अंग्रेजी मिश्रण नाम वाला भक्ति वेदांत मैनर, विश्व के दस हज़ार इसकॉन मंदिरों में प्रमुख है और सबसे पुराना भी। रमणीय स्थल वॉटफोर्ड ें स्थित यह मंदिर इसकॉन की हरे रामा-हरे कृष्णा गतिविधि का मुख्य केन्द्र है। वहां के आंचलिक क्षेत्र में बने भक्ति वेदांत मैनर के भव्य भवन में श्रीराम और श्रीकृष्ण का निवास है।

loading...

विश्वविख्यात गायक एवं संगीतज्ञ ‘बीटल’ जोर्ज हैरिसन के ‘बीटल’ ग्रुप को साठ के दशक में सुर के देवता माना जाता था। भारत यात्रा के दौरान ऋषिकेश की पावन भूमि पर उन्हें वशीभूत करने वाले अनुभव हुए और इस रूहानी जागृति का अनुसरण करते हुए उनका शेष जीवन बीता।

‘बीटल’ जोर्ज हैरिसन, आने वाले वर्षों में न केवल इसकॉन धारा का भाग बने बल्कि कई एकड़ों में फैले मैनर को भी इसकॉन को दान किया। इसकॉन के भक्ति वेदांत मैनर की इंग्लैंड में स्थापना और ‘बीटल’ जोर्ज हैरिसन का जरूर कोई पूर्व जन्मों का संबंध रहा होगा।

george harrison Hindu
george harrison Hindu

ट्यूडर राजाओं के समय के मैनर में शांत और हरे-भरे वातावरण में प्रभु निवास करते हैं। मुख्य द्वार के भीतर भी शांतिमय वातावरण है, जिसमें संदल और पुष्पों की सुगंध और वृद्धि होती है। विभिन्न देशों और नस्लों के भक्त और पर्यटक मुख्य हाल में एकत्रित थे। त्वचा भूरी हो या गोरी, नेत्र नीले, हरे, काले या भूरे हों-सभी एक ही ईश्वर की खोज में थे।

george harrison Hindu : हाल के अगले भाग में सुंदर सुनहरा, बारीक नक्काशी वाला ‘श्राइन’ था, जिसमें एक ओर सम्पूर्ण राम दरबार-श्रीराम, देवी सीता और लक्ष्मण जी, हनुमान जी संग विराजित थे और उसके साथ ही श्रीकृष्ण और राधिका जी विराजित थे। उन्होंने ज्योतिर्मय आभा वाले वस्त्र धारण कर रखे थे , उनके शृंगार में चार घंटे तक का समय लगता है। महामंत्र की संगीतमय ध्वनि हवा में गूंजती है, जो एक स्मरणीय दृश्य होता है।

हरे राम हरे राम, राम राम हरे हरे।
हरे कृष्णा हरे कृष्णा, कृष्णा कृष्णा हरे हरे।।

loading...

वर्तमान में, भक्ति वेदांत-मैनर वैदिक साहित्य, कृष्ण उपदेशों और शिक्षा का, पश्चिमी देशों का मुख्य केन्द्र है। अंग्रेजी शिक्षा के अंतरराष्टरीय स्तर को ध्यान में रखते हुए, भक्ति वेदांत स्कूल को दक्षता से चलाया जा रहा है। समय-समय पर भारतीय उत्सवों के साथ-साथ यहां निजी समारोह भी संपन्न किए जाते हैं। इंग्लैंड में इसकॉन की उत्तम छवि है, जिसकी समय-समय पर घटे इवेन्ट्स से वृद्धि होती रहती है।

इंग्लैंड के सभी MP, मंत्री, मेयर, प्रधानमंत्री हमेशा इस्कॉन जाते हैं।
2 वर्ष पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरॉन ने इसकॉन से अपने निवास 10, डाउनिंग स्ट्रीट पर दीवाली उत्सव का उद्घाटन करवाया था ।

भक्ति वेदांत मैनर मंदिर न केवल इसकॉन के नैसर्गिक-उत्साह का प्रतीक है बल्कि ‘बीटल’ जार्ज हैरिसन के भक्तिभाव का भी साक्षी है।

george harrison Hindu : सोशल मीडिया पर इस्कॉन की बुराई करने वाले क्या जार्ज हैरिसन से बड़े हिन्दू है?

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!