Press "Enter" to skip to content

शफीक के प्यार में मधु से शबनम बन गयी, खूब नुचने के बाद अब बोली – मैंने करी जिंदगी की सबसे बड़ी गलती

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Love Jihad Madhu Shafiq
Love Jihad Madhu Shafiq

Love Jihad Madhu Shafiq : मधु मैडम सिर्फ डेढ़ महीने में ही बाप बाप करने लग गयी, वो बड़े ही भरोसे से शफीक की हुई थी, और उसके लिए मधु मैडम ने अपना धर्म भी छोड़ दिया था और शबनम बन गयी थी 

मामला वैशाली जिले के बिदुपुर थाना के चकौसन बाजार की है जहाँ मधु नाम की मैडम को शफीक अच्छा इन्सान लगा और सबके समझाने के बाबजूद उन्होंने अपने इन्सान शफीक से निकाह कर लिया, और साथ ही मधु से शबनम हो गयी


मधु ने शफीक से कोर्ट मैरिज की, शादी से पहले शफीक ने तो बहुत ही भले मानुष की तरह व्यवहार किया, इंसानियत सब होती है, धर्म क्या होता है इत्यादि इत्यादि, अब मधु टाइप की मैडम लोग तो सेकुलरिज्म का कोर्स करके बड़ी होती है, शफीक टाइप के लोगो के लिए इनको फंसाना कोई बड़ी चीज नहीं

loading...

और मधु टाइप के लोग इतने खतरनाक होते है की अगर इनको कोई समझाने जाए तो उल्टा वही 100 गाली खाए, सांप्रदायिक होने का सर्टिफिकेट भी ले ले, और खुद ही इन मैडम लोगो की नफरत का शिकार हो जाये, जबतक मधु जैसे मैडम लोगो की बुरी गत नहीं होती तबतक इनको कोई नहीं समझा सकता

मधु से शबनम हो गयी, निकाह कर लिया फिर शफीक ने अपना असली रूप दिखाना शरू किया, एक काफिर की तरह सलूक शुरू कर दिया, नोचने का, शोषण का ही काम रह गया मधु अका शबनम के साथ, डेढ़ महीने में शफीक ने वो हाल किया की मधु बाप बाप करने लगी

अब मधु ने पुलिस थाणे में शफीक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराइ है प्रताड़ना का, और साथ ही ये भी कहा है की मुझसे जिंदगी की सबसे बड़ी गलती हो गयी है

loading...

शादी होते ही शफीक एकदम बदल गया और खूब प्रताड़ित करने लगा, जानवरों की तरह सलूक किया जाने लगा, अब उसे शफीक से आज़ादी चाहिए, मधु अब पुलिस थाने के चक्कर लगा रही है

अब इनका जो भी हो, पर मधु भी शिकार हुई महिलाओं की लिस्ट में जुड़कर एक नाम बनकर रह गयी, समझाने पर थोड़ी मानी, खूब को बुरी तरह नुचवाने और प्रताड़ना के बाद ही मानी, पर कहावत है न की अब क्या फायदा जब चिड़िया चुग गयी खेत, इज्ज़त खोकर अकल आ भी गयी तो अब इनको सम्मान कहाँ इस जीवन में मिलने वाला है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!