Press "Enter" to skip to content

जाति के आधार पर नहीं होना चाहिए आरक्षण, सिर्फ आर्थिक आधार पर होना चाहिए आरक्षण : मायावती

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
mayawati on reservation
mayawati on reservation

mayawati on reservation : आरक्षण के मुद्दे पर बीजेपी, आरएसएस का नेता कोई छोटा मोटा बयान भी दे दे तो इस देश में आन्दोलन तक मचा दिया जाता है, कहा जाता है की बीजेपी और आरएसएस दलित, पिछड़ा विरोधी है

पर अब आरक्षण पर बयान खुद मायावती ने दिया है, जिसके बाद से सभी के मुह पर टाले जड़ गए है – मायावती ने जाति के आधार पर आरक्षण का विरोध कर दिया है, और अब कहा है की – आरक्षण सिर्फ आर्थिक आधार पर होना चाहिए, जाति के आधार पर नहीं


कई लोगो को यकीन नहीं हो रहा है की वाकई मायावती ने ऐसा कहा होगा, पर ये बात सच है, खुद को दलितों का नेता बताने वाली मायावती ने जातिगत आरक्षण का विरोध करके आर्थिक आधार पर आरक्षण का समर्थन कर दिया है

loading...

दैनिक जागरण ने इस खबर को प्रकाशित भी किया है – मायावती ने ये बयान मध्य प्रदेश और राजस्थान दोनों जगह दिया है जहाँ पर वो बसपा के समर्थन में चुनावी रैली कर रही थी, मीडिया केवल बीजेपी और कांग्रेस की ही रैलियों को दिखाता है पर मायावती भी रैली कर रही है

mayawati on reservation
mayawati on reservation

मायावती ने राजस्थान और मध्य प्रदेश दोनों जगह कहा की आरक्षण का आधार जाति न होकर गरीबी होनी चाहिए, यानि जाति को नहीं बल्कि गरीबी को आरक्षण का आधार होना चाहिए, आर्थिक आधार पर आरक्षण होना चाहिए

loading...

मायावती की जगह ये बयान किसी बीजेपी नेता ने दिया होता तो अबतक दलितों के नाम पर राजनीती की दलाली करने वाले लोग देश में आग लगा रहे होते, और उस नेता को दलित पिछड़ा विरोधी बता रहे होते

पर अब खुद मायावती जाति के आरक्षण का विरोध कर आर्थिक आरक्षण की पैरवी कर रही है, जिसपर तमाम बुद्धिजीवियों के मुह पर लग गए है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!