Press "Enter" to skip to content

ये देखिये हमारी बच्चियों से क्या करवा रहा इसाई मिशनरी, हमारे लोगो का जीवन किया जा रहा बर्बाद

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Missionary terror in India
Missionary terror in India

Missionary terror in India : झारखंड की राजधानी रांची से लगभग 40 किलोमीटर दूर बेड़ो के दीघिया (कुदराखो) गांव में एक ईसाई विद्यालय है संत अन्ना विद्यालय। उस विद्यालय में दसवीं तक की पढ़ाई होती है।

विद्यालय की छात्राओं को समय-समय पर फादर द्वारा कई तरह के कार्य कराए जाते हैं। अभी ताजा मामला विद्यालय की छात्राओं से धान कटवाने का है। ग्रामीण बताते हैं कि विद्यालय की सिस्टर और ट्रस्ट के पास अच्छी खासी जमीन है।


उस जमीन पर धान की खेती होती है। खेती में धान रोपने व धान काटने के लिए विद्यालय की छात्राओं का उपयोग किया जाता है।

loading...

कल विद्यालय की जमीन पर लगे धान की फसल को काटने के लिए छात्राओं को लगभग 4 किलोमीटर पैदल चला कर ले जाया गया और धान कटवाया गया। यह एक सच है जो झारखंड के ईसाई मिशनरियों द्वारा संचालित विद्यालयों में किया जाता है।

सामान्य रूप से सरकारी विद्यालयों में यदि बच्चों से झाड़ू उठा लिया जाए तो विद्यालय के शिक्षकों पर कार्रवाई हो जाती है। खूब बवाल होता है। खूब राजनीति होती है, परंतु पता नहीं इस घटनाक्रम में विद्यालय प्रबंधन पर प्रशासन या स्थानीय नेता क्यों आंखें मूंदे बैठे हुए हैं। जो महंगी फीस भरकर पढा रहें है वो क्यो चुप हैं?

loading...

कैलास झुठार्थी कहाँ मर गया अब?

उम्मीद करता हूं कि सरकार, प्रशासन व मीडिया इस मामले में विद्यालय के शिक्षक व अन्य लोगों पर कार्रवाई करेगा। बाल मजदूरी कानून का सहारा लेना चाहिए.

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!