Press "Enter" to skip to content

किंग अहमद बलोच ने कहा – हम अपनी रियासत भारत में मिलाना चाहते है, नेहरु ने कहा – बंजर भूमि का क्या करेंगे, नहीं चाहिए बलोचिस्तान

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Nehru Crimes Balochistan
Nehru Crimes Balochistan

Nehru Crimes Balochistan : नेहरु ने भारत के साथ कितने अपराध किये है ये आज भी भारत के अधिकतर लोग नहीं जानते, नेहरु के कारण ही कश्मीर समस्या है, हमारा मानसरोवर हमारे पास नहीं बल्कि चीन के पास है, यहाँ तक की आज तिब्बत भी हमारे पास होता 

बलोचिस्तान – क्या आपको पता है की बलोचिस्तान रियासत भी थी, अंग्रेजों का जब भारत पर कब्ज़ा था, तब भारत में अनेक राजा थे, मुस्लिम राजा भी थे और हिन्दू राजा भी, बलोचिस्तान मुस्लिम बहुल इलाका था और वहां पर मुस्लिम राजा थे, जिनका नाम था अहमद बलोच, जिनकी तस्वीर आप ऊपर देख रहे है


हम इन्हें सम्मानजनक शब्दों से नवाज रहे है, चूँकि इन्होने मुस्लिम होने के बाबजूद अपनी रियासत को भारत में मिलाने की कोशिश की थी, पर इनकी रियासत ऐसी जगह थी जो की भारत की सीमा से नहीं मिलता था

Balochistan
Balochistan

भारत पाकिस्तान का बंटवारा हो गया, पर बलोच रियासत कभी भी पाकिस्तान का नहीं था, पाकिस्तान का निर्माण 1947 में हुआ पर बलोच रियासत 1948 तक तबतक आजाद था जबतक की पाकिस्तान ने सेना भेजकर इसपर कब्ज़ा करके इसे अपने में न मिला लिया

loading...

ऐसी ही कोशिश पाकिस्तान ने कश्मीर पर भी की थी, नेहरु की मेहेरबानी से पाकिस्तान कश्मीर के बड़े हिस्से पर कब्ज़ा करने में कामयाब रहा जिसे आप आजकल POK कहते है, पर बलोच रियासत पर पाकिस्तान ने पूरा कब्ज़ा कर लिया, ये रियासत आज पाकिस्तान का सबसे बड़ा स्टेट है

बलोचिस्तान बंजर था, सूखा था, यहाँ पानी नहीं था, लोगो की संख्या भी कम थी, काफी बेहाल इलाका था, पर प्राकृतिक रूप से आज यहाँ खजाना है, यहाँ पर गैस के भंडार है

जब भारत आजाद हुआ तो भारत के अधिकतर रियासतों ने भारत में खुद को मिला लिया, उस समय बलोच रियासत के राजा थे अहमद बलोच, उन्होंने नेहरु को प्रस्ताव भेजा की हम भी भारत में शामिल होना चाहते है, हमे भारत के राज्य के रूप में शामिल किया जाये, जैसे अन्य रियासतों को शामिल किया जा रहा है

चूँकि बलोचिस्तान की भारत से सीमा नहीं मिल रही थी, तो थोड़ी समस्या इसे लेकर थी, पर फिर नेहरु ने अहमद बलोच के प्रस्ताव को ठुकरा दिया, और कहा की आपके रियासत को भारत में शामिल करके भारत को कोई फायदा नहीं, उल्टा हमारा नुक्सान होगा, अतः आप आजाद मुल्क ही रहो, हमे आपकी जरुरत नहीं

Nehru Crimes Balochistan
Nehru Crimes Balochistan

फिर पाकिस्तान ने इसी बलोच रियासत पर 1948 में सेना भेजकर कब्ज़ा कर लिया, और तब से पाकिस्तान का बलोचिस्तान पर कब्ज़ा बना हुआ है, ये स्थान सुखा तो है पर गैस भंडार और अन्य खनिज के मामले में ये बहुत समृद्ध है, ये भारत का हिस्सा होता, जैसे की अंडमान है, लक्षद्वीप है, उसकी जमीनी सीमा भी भारत से नहीं मिलती फिर भी वो भारत है

loading...

Nehru Crimes Balochistan : बलोचिस्तान भी भारत ही होता, पर अपराधी नेहरु ने भारत के साथ बलोचिस्तान को लेकर भयानक अपराध किया, जबकि हजारों सालों से ये हिस्सा भारत का ही था

आज हिन्दुओ का एक मुख्य शक्तिपीठ जिसे हिंगलाज कहा जाता है, वो बलोचिस्तान में ही है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!