Press "Enter" to skip to content

फारसी को मुस्लिम भाषा बता रहा है, ओवैसी एक जाहिल है, मुझसे इसपर बहस करे कई टुकडो में फाड़ दूंगा : सुब्रमण्यम स्वामी

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Owaisi is a semi illiterate says subramaniam swamy
Owaisi is a semi illiterate says subramaniam swamy

Owaisi is a semi illiterate says subramaniam swamy : राज्यसभा सांसद डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने हैदराबाद के लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी को पर्शियन यानि फारसी भाषा पर जाहिल बताया है

दरअसल पिछले दिनों एक फर्जी इतिहासकार इरफ़ान हबीब ने शाह शब्द को फारसी बता दिया, और कहा की बीजेपी वाले नाम बदल रहे है तो सबसे पहले अमित शाह का नाम बदले, इस फर्जी इतिहासकार की लोगो ने बक्खिया उधेड़ दी, चूँकि शाह शब् संस्कृत के साधू और प्रकृत के साहू शब्द से निकला है, ये एक भारतीय शब्द है न की फारसी


और पर्शिया जो आज ईरान बन गया है, वहां पर शाह शब्द भारत से ही गया था, फर्जी इतिहासकार इरफ़ान हबीब के फर्जीवाड़े पर ओवैसी ने भी बीजेपी पर हमला करना शुरू कर दिया, और ओवैसी ने पर्शियन यानि फर्जी भाषा को मुसलमानों की भाषा बताते हुए, शाह शब्द को मुसलमानों का नाम बता दिया

loading...

इस मामले पर डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने ओवैसी को जमकर लताड़ा, डॉ स्वामी ने कहा की – फारसी कब से मुसलमानों की भाषा हो गयी, फर्जी पारसी लोगो की भाषा है, ये इस्लाम से पहले की भाषा है जब दुनिया में इस्लाम था भी नहीं, देखिये विडियो

डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा की – ओवैसी इन मामलों में जाहिल है, उसे किसी चीज का ज्ञान नहीं है, उसे कहो की इस मामले पर वो मुझसे बहस करे मैं उसे कई टुकडो में फाड़ के रख दूंगा

डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा की – पर्शियन यानि फारसी भाषा मुस्लिम भाषा नहीं है, ये पारसी लोगो की भाषा है जो पर्शिया में बोली जाती थी, पारसी लोगो के धार्मिक ग्रंथों जिनको कथा कहा जाता है उनको भी आप खोलकर देखेंगे तो उनमे संस्कृत के शब्द भरे पड़े है

loading...

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें की फारसी ही क्या, अरबी भाषा भी मुसलमानों की या इस्लामिक भाषा नहीं है, मोहम्मद शब्द भी इस्लामिक शब्द नहीं है, अरबी भाषा भी इस्लाम से पुरानी है, ये असल में पागन लोगो की भाषा है, इस दुनिया में मुस्लिम भाषा कोई नहीं है, इस्लाम तो 1400 ही बना है, दुनिया में अरबी, फारसी इत्यादि भाषाएँ उस से भी हजारों साल पुरानी है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!