Press "Enter" to skip to content

दिल्ली – 11 साल से रह रहा पाकिस्तानी मुस्लिम परिवार पकड़ा गया, केजरी सरकार दे रही थी पेंशन

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Pakistani Muslim family arrested in Delhi
Pakistani Muslim family arrested in Delhi

Pakistani Muslim family arrested in Delhi : पाकिस्तानी नागरिकता वाले परिवार को सभी सरकारी सुविधाएं मुहैया कराए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। खबरों के मुताबिक जफराबाद के चौहान बांगर इलाके में 11 साल से एक पाकिस्तानी परिवार रह रहा है।

पाकिस्तानी परिवार न सिर्फ बिना बीजा के रहा है, बल्कि दिल्ली सरकार ने आधार कार्ड, राशन कार्ड, और ड्राइविंग लाइसेंस तक बना कर दे दिया। सबसे बड़ी चौकाने बाली खबर यह है, की पाकिस्तानी परिवार की मुखिया दिल्ली सरकार से विधवा पेंसन तक ले रही है। देश की राजधानी दिल्ली में बिना अनुमति रह रहे पाकिस्तानी परिवार के खुलाशे के बाद दिल्ली पुलिस व सुरक्षा एजेंसियां में हड़कंप मचा हुआ है।


पाकिस्तानी परिवार की मुखिया अमीना बेगम जफराबाद के चौहान बांगर इलाके में 11 साल से रह रही है। खबरों के मुताबिक बताया जा रहा है, कि अमीना बेगम का जन्म जफराबाद इलाके में ही हुआ था। लेकिन माँ ने अपने बड़े भाई के बेटे मोहम्मद नफीस, जो की पाकिस्तान के लाहौर में रहते थे, उनसे निकाह करा दिया।

19 अप्रैल 1984 को निकाह के बाद अमीना बेगम पाकिस्तान के लाहौर चली गयी। निकाह के बाद भी अमीना बेगम कई बार अपने परिजनों से मिलने भारत आती रहती थी।

बर्ष 1996 के आसपास अमीना के पति मोहम्मद नफीस की एक सड़क हादसे में मौत हो गयी। उसके बाद पाकिस्तान में परिवार की जिम्मेदारी अमीना बेगम पर आ गयी। पाकिस्तान में घर का खर्च चलाना मुश्किल हो रहा था, इसलिए बर्ष 1997 में अमीना बगल भारत आ गयी। भारत आते बक्त भारत सरकार ने अमीना को केवल 90 दिन का दिया था।

loading...

क्यूंकि उन्होंने परिवार से मिलने की इच्छा जताई थी। उसके बाद वीजा लेकर दो बेटियों आसमा, उज्मा और दो बेटों उमर दराज व वकास को लेकर चौहान बांगर में परिजनों के पास आ गई।

केबल साल 2007 तक अमीना बेगम ने अपना व अपने बच्चो के बीजा की अबधि बढ़ बाती रही। अब सोचने बाली बात यंहा पर यह भी थी, कि इतने लम्बे समय से विदेश मंत्रालय का वीजा दफ्तर किसी ब्यक्ति की बीजा अबधी कैसे बढ़ा सकता है। लेकिन साल 2007 के बाद अमीना बेगम ने बीजा की तारिख को रिन्यू नहीं कराया था। लेकिन वीजा अवधि खत्म होने के बाद भी वह अवैध रूप से रहने लगी।

Pakistani Muslim family arrested in Delhi : वीजा अवधि खत्म होने के बाद भी वह अवैध रूप से रहने बाली अमीना बेगम ने सभी सरकारी दस्ताबेज बनवा लिए। इतना ही नहीं अमीना ने अपने सभी बच्चो को सरकारी स्कूल में पढ़ाया भी। इसके अलावा राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, और यंहा तक की खुद की विधवा पेंसन भी सरकार से लेने लगी।

अमीना बेगम ने दिल्ली सरकार के सभी सरकारी कागज़ जुगाड़ से बनवा लिए, और किसी भी सरकारी महकमे को भनक तक नहीं लगी, कि अमीना बेगम पाकिस्तानी है। सभी सरकारी डॉक्यूमेंट जुगाड़ से बनने के बाद यह साबित हो गया, की दिल्ली सरकार में कितनी लापरबाही मौजूद रहती है।

अमीना बेगम ने अपने सभी बच्चो को सरकारी स्कूल में पढ़ने के लिए भेजा, इतना ही नहीं सभी सरकारी कागज़ भी बनवा लिए जो की किसी ब्यक्ति के मूल निबाशी होने के प्रमाण होते है। इसके अतिरिक्त अमीना ने अपनी दोनों बेटियों की शादी भी इसी इलाके में कर दी।

मामला तब प्रकाश में आया जब परिवार में संपत्ति को लेकर विवाद हुआ। अगर घर में विवाद नहीं होता तो शासन-प्रशाशन किसी को भनक तक नहीं लगती की परिवार पाकिस्तानी है।

loading...

Pakistani Muslim family arrested in Delhi : पाकिस्तान से आने बाली अमीना बेगम अपने दोनों बेटो के साथ दो मंजिला घर की छत पर टीन सेड डालकर रह रही है। अमीना बेगम के दोनों भाई दिलशाद और अख़लाक़ चाहते है, कि उसकी बहन का परिवार घर छोड़ कर चला जाए। क्यूंकि उनकी बहन ने उन्हें बताया था। कि उनको व बच्चो को भारतीय नारिकता मिल गयी है।

क्यूंकि बहन के नाम पर राशन कार्ड है। और बहन हर महीने सरकारी राशन की दूकान से राशन भी लेती है। इतना ही नहीं बहन को दिल्ली सरकार हर महीने विधवा पेंसन भी देती है।

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!