Press "Enter" to skip to content

कोर्ट नहीं जनता सबसे ऊपर – लोगों ने जमकर फोड़े पटाखे, शाम से लेकर देर रात तक धड़ाम धुड़ूम

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
People brust crackers with full fun on diwali
People brust crackers with full fun on diwali

People brust crackers with full fun on diwali : पहली चीज ये आपको साफ़ कर दें की दिल्ली और देश के किसी भी कोने में दीपावली के पटाखों से प्रदुषण का कुछ लेना देना नहीं है 

धनतेरस वाले दिन दिल्ली में सबसे ज्यादा प्रदुषण था, उस दिन तो कोई पटाखे भी नहीं फोड़े गए थे, प्रदुषण की दूसरी वजह है दिवाली के 1 दिन के पटाखों से दिल्ली में प्रदुषण होता है ऐसा बिलकुल नहीं है


पर निशाने पर दिवाली के ही पटाखे है, क्रिसमस के पटाखे, इसाई नववर्ष के पटाखे, मैच जीतने के पटाखे, और बाकि हर  चीज पर पटाखे, फिल्म के सेट पर पटाखे चलेंगे, पर प्रदुषण सिर्फ दिवाली के पटाखों से होता है, इसी मानसिकता को लेकर देश की सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर पटाखों के लिए एक समय लिमिट लागू कर दिया था

loading...

मीलार्ड ने दिवाली पर सिर्फ 8 से 10 के बीच यानि 2 घंटे तक के लिए पटाखों की अनुमति दी थी, पर असल में दिल्ली और देश के सभी राज्यों में, 8 से भी काफी पहले, 5-6 बजे से ही पटाखों की धड़ाम धुड़ूम शुरू हो गयी, और देर रात तक धड़ाम धुड़ूम चलता ही रहा

ये आर्टिकल हम ठीक 12 बजे लिख रहे है दिवाली की रात को, और अभी भी हमारे कानो में धड़ाम धुड़ूम की आवाज आ रही है, लोगों ने कोर्ट को कदाचित बता दिया की इस देश में कोर्ट नहीं बल्कि देश के लोग सबसे ऊपर है

अगर कोर्ट ऐसे फैसले करेगा जो लागू नहीं हो सकते तो फिर ऐसा ही होगा, बहुसंख्यको की भावना को बांधकर रखना मुमकिन नहीं होता, इस देश का बहुसंख्यक बहुत विशाल ह्रदय का है, पर अगर उसका गला ही दबाया जाने लगेगा तो वो जवाब भी देगा

loading...

वैसे कुछ लोग देर रात तक धड़ाम धुड़ूम की आवाज से हिन्दुओ को खूब कोस भी रहे है और ये सोशल मीडिया पर चिल्ला रहे है की हिन्दू देश के कानून का देश के सुप्रीम कोर्ट का अपमान कर रहा है

ये तमाम लोग मस्जिदों के लाउड स्पीकर पर मौन रहते है, बकरीद पर जानवरों के कत्लेआम पर होने वाले कानून के उल्लंघन पर मौन रहते है, चिल्लाते सिर्फ हिन्दू त्यौहार पर ही है, पर हिन्दू समाज ने भी धड़ाम धुड़ूम से इन लोगों को माकूल जवाब दे दिया है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!