Press "Enter" to skip to content

नमक का कर्जा चुकाने लगे मुखर्जी, कहा – भारत के हालात बहुत ख़राब हो चुके है, असुरक्षित हो गया देश

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Pranab Mukharjee attacked Modi
Pranab Mukharjee attacked Modi

Pranab Mukharjee attacked Modi : जब देश में सोनिया गाँधी की सरकार थी तो उस सरकार के अधिकतर समय में प्रणब मुखर्जी मंत्री हुआ करते थे, ये भी हर लूट के गवाह है, पर इन्हें तब देश असुरक्षित, देश का माहौल ख़राब नहीं लगा 

आख़िरकार कांग्रेस नेता प्रणब मुखर्जी गाँधी नेहरु खानदान के नमक का कर्ज जैसे चुकाने के मूड में आ ही गए है, उन्होंने मोदी सरकार पर हमला किया है और कहा है की देश के हालात अभी बहुत ख़राब हो चुके है, देश में असुरक्षा का माहौल हो गया है, देश खतरनाक हो चूका है


तब आप कहाँ से प्रणब मुखर्जी जी ? हिन्दू अयोध्या में केवल इकट्ठे हो रहा है तो जान निकल रही है सोचो जब कश्मीर में मस्जिद से नारा लगा ,,हिन्दुओं घाटी छोड़ो या इस्लाम अपनाओ ,,, अपने पीछे अपनी पत्नी अपनी बेटी को छोड़ कर जाओ ,,, इस तरह का तो कोई नारा भी नहीं लगा है ,, फिर क्यो भाग रहे है

दरअसल इनकी नजर में इकट्ठे होने का मतलब एक ही है हमला करना ,, जो जैसा होता है वैसा ही सामने वाले के बारे में राय बनाता है ,,, फिर चाहे वो मुंबई हो या गोधरा या कश्मीर ,,,,,

loading...

मुखर्जी साहब! असहिष्णुता तो 1984 में भी थी जिसने देश, धर्म और संस्कृति रक्षा के लिए रक्त-होम करने का कीर्तिमान स्थापित किया था, पर अलग-थलग होने को मजबूर हुआ.

सही तो कह रहें है बेचारे रोहिंग्या मुसलमान की क्या हालत बना रखी है मोदी सरकार ने।दीदी का बंगाल देखो कितना सहिष्णु है। यह हालात की जनक कोंग्रेस है, तृष्टीकरण की राजनीती का परीणाम है। वोटबेंक की राजनीती का खामीयाजाना देश भुगत रहा है।

दरअसल हिंदू जागरूक हो गए हैं और अब अपने हक और अधिकार की बात करने लगे हैं इसे ही आप असहिष्णुता कह सकते हैं। मोदी राज होने के बाद दंगे फसाद तो बिल्कुल बंद ही हो गया है।

….रेल्वे के जनरल डिब्बे कि तरह बंगलादेशी और रोहंगियो को घुसाया जाताथा तब तक सबकूछ सहिष्णुता थी !!! कश्मीर मे से पंडीतो ने धर्मपरिवर्तन के बदले पलायन स्वीकार किया तब भी सहिष्णुता थी !!! कोंग्रेस बस चायवाले मोदीजी को बतौर प्रधानमंत्री सहेन नहीं कर रही है … वही आज कि सबसे बडी अ-स-हि-ष्णु-ता है ।

loading...

सिख दंगे और भागलपुर के दंगे भूले नहीं है हम ……4.6 साल मोदी राज मे कोई भी दंगा नहीं हुआ लगता हैं कन्ग्रेस पार्टी मे फण्ड की भारी कमी हो गयी हैं अब ये लोग ईसी तरह का बोल बोल के चन्दा जुगाड करेंगे

Pranab Mukharjee attacked Modi : मुखर्जी साहब! असहिष्णुता यानी कायरता नहीं है। कोई पीटते जाए दूसरा मार खाते जाए। तब तक दूसरा सहिष्णु है। जैसे ही दूसरा प्रतिकार करने लगे तो समाज व देश में असहिष्णुता बढ़ जाती है। फिर तो ऐसी असहिष्णुता का त्याग ही कर देना बेहतर है।

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!