Press "Enter" to skip to content

10 नवंबर शौर्य दिवस – आज ही शिवाजी महाराज ने आतंकी अफज़ल खान को काट दिया था 5 टुकडो में

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Shivaji killing terrorist Afzal Khan
Shivaji killing terrorist Afzal Khan

Shivaji killing terrorist Afzal Khan : आज 10 नवम्बर का दिन है, आज भारतीयों को अपने एक बड़े हीरो शिवाजी महाराज के शौर्य को याद करने का दिवस है 

आज 10 नवम्बर शौर्य दिवस है – आज ही के दिन आतंकवादी अफज़ल खान को शिवाजी महाराज ने 5 टुकडो में काट दिया था, और उसका सर माता जिजाबाई को गिफ्ट किया था, और उसके आतंक का अंत किया था


10 नवम्बर 1659 – आदिलशाह के सबसे बड़े आतंकी अफज़ल खान का वध आज ही महान शिवाजी महाराज ने किया था, अजफल खान आदिलशाह का सबसे बड़ा जनरल था

अफज़ल खान एक खूंखार आतंकवादी था, वो छोटे मोटे हिन्दू राजाओं को धोके से मारा करता था, वो पीठ पर खंजर से वार करने वाले इस्लामिक आतंकियों में से था, वो था काफी लम्बा चौड़ा पर उतना ही कायर था, वो पीठ पर वार किया करता था

loading...

अफज़ल खान एक ऐसा खूंखार आतंकवादी था जो मंदिरों को बड़े पैमाने पर तोडा करता था, शिवाजी महाराज ने हिन्दुओ को एकजुट कर खुद को एक ताकत के रूप में स्थापित कर लिया, आदिलशाह डर गया वो समझ गया की अब शिवाजी का अगला निशाना वो ही है

आदिलशाह ने शिवाजी महाराज को ख़त्म करने के लिए अफज़ल खान को भेजा, अफज़ल खान इतना कायर था की उसके पास बड़ी सेना होने के बाबजूद उसने शिवाजी से युद्ध नहीं बल्कि मित्रता का प्रस्ताव रखा, और मिलने के लिए बुलाया

अफज़ल खान और शिवाजी महाराज में मीटिंग पॉइंट तय हुआ, जिसके बाद दोनों की मुलाकात हुई, अफज़ल खान ने मित्रता की बात की, और शिवाजी महाराज को गले लगने को कहा, पर उसने शिवाजी महाराज की पीठ में खंजर घोंपने का प्रयास किया, पर शिवाजी महाराज और अन्य हिन्दू राजाओं में एक अंतर था

शिवाजी महाराज इस्लामिस्ट को अच्छे से जानते थे, वो जानते थे की इस मजहब के लोग धोखेबाजी में अव्वल है, इसलिए शिवाजी महाराज ने पहले से तैयारी कर रखी थी, शिवाजी महाराज ने वस्त्रों के नीचे धातु का जाल पहना हुआ था, अफज़ल खान के खंजर का वार विफल रहा, पर अब शिवाजी महाराज की बारी थी, उन्होंने अफज़ल खान के पेट को चीर दिया

फिर वहां युद्ध हुआ, अफज़ल खान मारा गया तो उसकी 90% फ़ौज भाग खडी हुई, शिवाजी महाराज ने आतंकवादी अफज़ल खान को 5 टुकडो में काट डाला, और उसका सर जाकर माता जिजाबाई को गिफ्ट किया

loading...

Shivaji killing terrorist Afzal Khan : एक धोखेबाज कायर इस्लामिक आतंकवादी के साथ किस तरह डील करना चाहिए, ये आज हमे शिवाजी महाराज से सीखने की जरुरत है, अफज़ल खान ने पीठ पर वार कर 10 से ज्यादा हिन्दू राजाओं को मारा था, पर शिवाजी महाराज न ही सेक्युलर थे और न ही मुर्ख

वो अच्छे से कट्टरपंथियों की मानसिकता को समझते थे, आज हमे शिवाजी महाराज से सीख लेनी चाहिए, आतंकवाद और कट्टरपंथियों के साथ कैसे डील की जाती है ये शिवाजी से सीखें, आज 10 नवम्बर को हम शिवाजी महाराज के शौर्य को याद कर इसे शौर्य दिवस के रूप में मनाते है, जय भवानी जय शिवाजी

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!