Press "Enter" to skip to content

अखिलेश सरकार और इस्लामिक कट्टरपंथियों से जुड़ने लगे सुबोध कुमार की हत्या के तार, कठुवा पार्ट-2 बनाने में लगी है मीडिया

Share on Whatsapp
Whatsapp
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Islamic radicals behind murder of Subodh Kumar singh
Islamic radicals behind murder of Subodh Kumar singh

Islamic radicals behind murder of Subodh Kumar singh : कठुवा का नाम अब मीडिया नहीं लेती, हिन्दुओ को बदनाम किया, बना सच और फिर जांच के बाद जो सच सामने आये उसपर चुप्पी 

भारतीय मीडिया, सेक्युलर नेताओं का ये खेल काफी पुराना है, और सच ये है की भारतीय लोग बार बार इस खेल में फंस जाते है, बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या गोली लगने से हुई है, मीडिया ने पहले पीट पीट कर मारने की खबर चलाई थी


अब इस मीडिया ने कठुवा पार्ट-2 बनाने का काम बिना जांच और सबूत शुरू कर दिया, हिन्दुओ को बदनाम करो, गौहत्यारों को मासूम बताओ और एजेंडा चलाओ, कुछ दिनों बाद ये मीडिया सुबोध कुमार का नाम भी उसी तरह नहीं लेगी जैसे अब कठुवा का नाम नहीं लेती है

क्यूंकि अब सुबोध कुमार सिंह की हत्या के मामले में तार इस्लामिक कट्टरपंथियों और सीधे अखिलेश सरकार से जुड़ रहे है

खुलासा ये हुआ है की सुबोध कुमार सिंह गौतम बुद्ध नगर जिले के दादरी में हुए अखलाख काण्ड में मुख्य जांच अधिकारी थे, पुलिस ने शुरुवाती जांच करी थी, और अख़लाक़ के घर से गौमांस प्राप्त किया था

loading...

खुलासा ये हो रहा है की अखिलेश यादव की सरकार ने सुबोध कुमार सिंह पर दबाव बनाया था की तुम गाय के मांस को भैंस के मांस से बदल दो, पर सुबोध कुमार सिंह ने ऐसा करने से इंकार कर दिया, यानि अखिलेश सरकार जो चाहती थी वो सुबोध कुमार सिंह ने नहीं किया

और इस मामले में बाद में गौमांस की पुष्टि भी लैब ने कर दी, मीडिया का भी खेल दादरी मामले में ख़त्म हो गया, और तभी से सुबोध कुमार सिंह इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गए

सुबोध कुमार सिंह दादरी में ही ड्यूटी पर थे, पर उन्होंने अखिलेश यादव की बात नहीं मानी तो उनको दादरी से बुलंदशहर ट्रान्सफर करके भेज दिया गया

फिर बुलंदशहर में कट्टरपंथियों ने गौकशी की, स्थानीय हिन्दुओ ने इसके खिलाफ प्रदर्शन किया और किसी ने सुबोध कुमार सिंह को गोली मार दी

loading...

मीडिया के पास कोई सबूत नहीं है की सुबोध कुमार सिंह को किसने गोली मारी पर मीडिया तो कठुवा पार्ट -2 बनाने में लगी है, मीडिया को किसी जांच का किसी सबूत का इंतज़ार नहीं करना उसे बस आपको मुर्ख बनाना है

कुछ ही दिनों में इस मामले में जांच पूरी हो जाएगी, और सच सामने आएगा की सुबोध कुमार सिंह की हत्या आखिर किसने की, ये साफ़ हो चूका है की, अखिलेश सरकार की बात सुबोध कुमार सिंह ने नहीं मानी थी और तभी से सुबोध कुमार सिंह इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर थे

और एक अहम् चीज – बुलंदशहर में इंस्पेक्टर की हत्या हुई और जो कुछ हुआ, उसपर सबसे ज्यादा लाभ सपा, बसपा, कांग्रेस ही ले रही है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!