Press "Enter" to skip to content

बुलंदशहर के असली मुजरिम है गौहत्यारे, जिनके कारण लगी आग, इनको मीडिया बता रही मासूम

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Real culprits of Bulandshahar are cow killers
Real culprits of Bulandshahar are cow killers

Real culprits of Bulandshahar are cow killers : बुलंदशहर को मीडिया कठुवा पार्टी 2 बनाने में लगी है, हिन्दुओ को जमकर बदनाम करो, सच जांच ये सब तो बाद में आएगा, पर जबतक माहौल गरम है हिन्दुओ के खिलाफ मुहीम चलाते रहो 

बुलंदशहर की घटना में हिन्दू मरे, गाय मरी, हिन्दू अपराधी घोषित कर दिए गए, गौरक्षक गुंडे साबित कर दिए गए, पर ध्यान देने वाली चीज ये है की मीडिया गौहत्यारों को मासूम साबित करने में सफल रही


पूरा का पूरा कठुवा पार्ट 2 बनाया जा रहा है जिसमे मीडिया के साथ कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, लेफ्ट जैसे दल शामिल है, साथ ही बुद्धिजीवी वर्ग भी सोशल मीडिया पर हिन्दुओ के खिलाफ मुहीम चला रहा है

सबसे बड़ी चीज ये है की सब लोग अपने काम धंधे में लगे थे, आखिर बुलंदशहर में आग लगी ही क्यों ? क्या कारण था की हिन्दू सड़क पर आये ? इसपर मीडिया चर्चा नहीं करना चाहती

कारण था स्थानीय मुसलमानों द्वारा गौहत्या, और इतना ही नहीं गौहत्या का लक्ष्य मांस भी नहीं बल्कि हिन्दुओ को चिढाना और अपनी शक्ति दिखाना था

loading...

अगर किसी को गौकशी करनी होती है तो चुपके से करता है, पर बुलंदशहर में गौकशी करके उसके खाल और अन्य हिस्सों को खेतों में टांगा गया, मकसद सिर्फ एक था हिन्दुओ को सीधी चुनौती देना

बुलंदशहर में जो आग लगी है उसे गौहत्यारों ने लगाई है, जिन्हें मीडिया मासूम घोषित करने में लगी है, गौहत्यारे जान बुझकर गौकशी कर शहर दर शहर आतंकवाद मचाने में लगे है, हिंसा करवाने में लगे है

और ये भी मुमकिन है की इन गौहत्यारों के पीछे आम आदमी पार्टी, कांग्रेस, सपा, बसपा जैसे दलों का हाथ हो, क्यूंकि जो भी आग लगी है उसपर सबसे ज्यादा राजनीती ये ही लोग कर रहे है, ये ही लोग इसमें राजनितिक फायदा खोज रहे है और स्थानीय राज्य सरकार बदनाम की जा रही है

बुलंदशहर में खेतों में गाय के अवशेष मिले है, फिर भी सेक्युलर मीडिया और सेक्युलर नेता इसे “अफवाह” बता रहे है, सामने गौ के अवशेष दिख रहे है और इसे ये लोग अफवाह बताते है

बुलंदशहर ही नहीं बल्कि आसपास के तमाम इलाकों में गौहत्यारे गौहत्या कर रहे है, और ये भी सच है की कई इलाकों में पुलिस भी भ्रष्ट्र है और पैसा खाकर गौहत्या धड़ल्ले से होने देती है, योगी हर थाने पर खुद नजर नहीं रख सकते

loading...

हिन्दू विरोध करता है तो मीडिया उसे दंगाई घोषित कर देती है, इंस्पेक्टर सुबोध को गोली से मारा गया, पहले मीडिया ने पीट पीट कर मारने की खबर चलाई थी, पर सच्चाई ये है की गोली से हुई है मौत, और ये गोली किसने चलाई है इसका सबूत किसी मीडिया के पास नहीं है

जबतक जांच नहीं हो जाती, सब सामने नहीं आ जाता दैनिक भारत की पाठकों से अपील है की मीडिया, सेकुलरों की किसी अफवाह, बात पर कतई भी यकीन न करें, ये कठुवा पार्ट-2 बनाकर फिर हिन्दुओ के खिलाफ साजिश रचकर असल इस्लामिक कट्टरपंथियों को बचाने और मासूम साबित करने का षड्यंत्र है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!