Press "Enter" to skip to content

मायावती ने किया था अपमानित, मोदी ने बना दिया नेता, पर आख़िरकार दिखा ही दी औकात, बीजेपी से ऐसे नेता का जाना बीजेपी के लिए बेहतर

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
savitribai phule bahraich
savitribai phule bahraich

savitribai phule bahraich : सावित्रीबाई फुले जो की बहराइच से बीजेपी के टिकेट पर सांसद बनी, उनका बीजेपी से जाना बीजेपी के लिए ही अच्छा है, उनका का राजनीतिक सफर बहुत दिलचस्प है

6 साल की उम्र में इनकी शादी हो गई थी फिर बाद में यह घर छोड़ कर वापस मायके आ गयी.. जीवन में बहुत संघर्ष किया ..अपनी बहनों की पढ़ाई लिखाई करवाई.. खुद इन्होंने ग्रेजुएशन किया ..उसके बाद कांसीराम का भाषण सुनकर बामसेफ से जुड़ गई


एक जगह मंच पर भाषण देते देख कांशीराम और मायावती इतने प्रभावित हुए इन्हें बहुजन समाज पार्टी में शामिल कर लिए .. फिर बहुजन समाज पार्टी में इनकी मायावती से नहीं बनी, फिर मायावती ने इन्हें खूब अपमानित किया उसके बाद मायावती ने इन्हें पार्टी से निकाल दिया

loading...

फिर ये बीजेपी में शामिल हो गई …2012 के गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने गुजरात में चुनाव प्रचार करने को इन्हें भेजा ..यह जूनागढ़ और सौराष्ट्र के कई दलित बहुल इलाकों में रात दिन बीजेपी का प्रचार की …नरेंद्र मोदी उस वक्त गुजरात के मुख्यमंत्री थे ..सावित्री बाई फूले की मेहनत से प्रभावित हुए और उन्हें गांधीनगर मिलने के लिए बुलाया बातों बातों में सावित्रीबाई फुले ने अपने लिए सांसद की टिकट की मांग कर दी ..

नरेंद्र मोदी ने वादा किया हम आपको जरूर देंगे पहले नरेंद्र मोदी ने उन्हें गुजरात की किसी सीट से चुनाव लड़ने को बोला लेकिन उन्होंने अपने जन्मभूमि बहराइच से टिकट मांगा

सावित्रीबाई फूले ऐसी नेता थी जिन्होंने बिना संकोच सीधे नरेंद्र मोदी से टिकट मांगा था ..वह जीती और सांसद बनी उसके बाद मंत्रिमंडल में स्थान की मांग की जिसे यह कहकर ठुकरा दिया गया क्योंकि आप पहली बार सांसद बनी है और बीजेपी में आयातित नेता है इसलिए आप को मंत्री बनाने से मूल बीजेपी के नेताओं में असंतोष पैदा होगा

loading...

फिर उसी दिन के बाद से यह विद्रोही तेवर अपना ली और साढे 4 साल बीजेपी में रहकर सांसदी का पद भोगने के बाद अब इनके अंदर बैराग्य जाग उठा और उन्होंने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया

सच कहूं तो ऐसे स्वार्थी लोगों को बीजेपी छोड़कर जाना यह शुभ संकेत है

Comments are closed.

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!