कडवी बातताज़ा खबरसेकुलरिज्म

योगी है इसलिए हो रहा दीप महोत्सव, अखिलेश होते तो हर साल हो रहा होता सैफई अधनंग महोत्सव

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+

इसे शेयर जरुर करें
deep mahotsav vs Saifai mahotsav
deep mahotsav vs Saifai mahotsav

deep mahotsav vs Saifai mahotsav : अयोध्या में साल 2017 से जब से प्रदेश में योगी सरकार बनी है तब से दीपावली के मौके पर दीप महोत्सव हो रहे है

दीप महोत्सव से भारत का नाम भी रौशन हो रहा है, और इसकी चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है, इस से भारत तथा उत्तर प्रदेश की मूल संस्कृति का प्रचार हो रहा है, इस बार दीप महोत्सव में तो कोरिया की प्रथम महिला भी आईं, साल 2018 का दीप महोत्सव काफी भव्य रूप से मनाया गया


भारतीय संस्कृति का सम्मान हो, भारतीय संस्कृति का प्रचार हो तो देश के दुश्मनों और हिन्दू धर्म तथा भारतीय संस्कृति से नफरत करने वालो को ये कहाँ से अच्छा लगने वाला है, ये तमाम लोग दीप महोत्सव के खिलाफ अनेक प्रकार से जहर उगल रहे है

loading...

कोई कह रहा है की दीप महोत्सव के जरिये बीजेपी राजनीती कर रही है, कोई कह रहा है की दिया जलने से अच्छा किसी गरीब का पेट भर देते, इसी तरह की बातें दीप महोत्सव के खिलाफ कही जा रही है

जो लोग दीप महोत्सव का विरोध कर रहे है, ये वही लोग है जो सैफई में होने वाले अधनंग नाच को सैफई महोत्सव बताकर खूब प्रचारित करते रहे है, आपको ध्यान होगा जब यूपी में अखिलेश यादव की सरकार थी तो मुलायम सिंह के गाँव सैफई में अधनंग नाच करवाए जाते थे जिसे सैफई महोत्सव बताया जाता था

फिल्म्बाजो को करोडो रुपए देकर सैफई बुलाया जाता था, और हजारों करोड़ रुपए अधनंग नाच पर रात को उड़ा दिए जाते थे

दारूबाजी की जाति थी और इसे महोत्सव भी बता दिया जाता था, तब दीप महोत्सव का विरोध करने वाले 1 भी शख्स ने कभी ये नहीं कहा की – फिल्म्बाजो पर करोडो रुपए उड़ाने से अच्छा उस से गरीबों का भला किया जाता

loading...

अगर यूपी में आज भी अखिलेश होते तो अयोध्या तो गन्दगी का भंडार ही रहता, वहां तो नगरनिगम भी नहीं था, योगी राज में ही नगरनिगम मिला, कभी भी दीपावली पर अयोध्या में दीप महोत्सव जैसा कोई कार्य नहीं होता, न कोरिया की प्रथम महिला ही आती, जबकि हर साल अधनंग सैफई महोत्सव जरुर होता, योगी हैं तो भारतीय संस्कृति का सम्मान और प्रचार हो रहा है, दीप महोत्सव मनाया जा रहा है

अब लोगों को ही तय करना है की वो सैफई महोत्सव के साथ है, या फिर दीप महोत्सव के साथ

Loading...

Related Articles

error: Content is protected !!
Close