ताज़ा खबरसेकुलरिज्म

दिवाली पर जिन्होंने पटाखे फोड़े है वो अपराधी है, इन गुनाहगारों को माफ़ नहीं किया जायेगा : पंखुरी पाठक

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+

इसे शेयर जरुर करें

"<yoastmark

Pankhuri pathak on Crackers : कल देश की जनता ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश को हवा में उड़ा दिया, और दिवाली के मौके पर जमकर आतिशबाजी की गयी 

कुछ लोगों ने तो शुरुवात ही 10 बजे के बाद की, पूरी रात भर लोग पटाखे जलाते रहे और अपनी दिवाली को उन्होंने जमकर मनाया, सुप्रीम कोर्ट ने 8 बजे से लेकर 10 बजे के बीच पटाखे बजाने की छुट दी थी, पर लोगों ने कोर्ट को भी बता दिया की इस देश में कोर्ट से भी ऊपर जनता है, जनता ही सर्वोपरी है


देश के लोगो ने दिवाली पर पटाखे फोड़े, लोगों ने तो खुशियाँ मनाई पर देश के सेक्युलर खेमे की नींद ही हराम हो गयी, यहाँ लोग पटाखे फोड़ रहे थे, पर पटाखों से भी ज्यादा तो देश के सेक्युलर तत्व फूट रहे थे, कई सेक्युलर तत्वों ने लोगो को जमकर कोसा

loading...

ऐसे ही सेक्युलर तत्वों में पंखुरी पाठक भी शामिल रही, जो की पूर्व सपा नेता है, सपा में रहते हुए कई प्रकार के शोषण किये गए तंग आकर सपा छोड़ी, पंखुरी पाठक ने दिवाली पर पटाखे फोड़ने वाले लोगों को अपराधी घोषित कर दिया

पंखुरी पाठक ने कहा की जिन लोगो ने दिवाली पर पटाखे फोड़े है वो सभी अपराधी है और उनको माफ़ नहीं किया जा सकता, पंखुरी पाठक ने ये बात लिखित में कही, देखिये

दिवाली के पटाखे फोड़ने वाले गुनाहगार है, उनको माफ़ नहीं किया जा सकता, उनको तो आने वाली पीढियां भी माफ़ नहीं करेंगी, दिवाली पर पटाखे फोड़ने वाले लोगों (हिन्दुओ) को खतरनाक अपराधी घोषित कर दिया गया

loading...

वैसे असल में प्रदुषण तो पंखुरी पाठक जैसे लोग AC, गाडी इत्यादि से रोजाना फैलाते है, दिवाली के 1 दिन के पटाखों से देश में प्रदुषण नहीं है, असल प्रदुषण की जड़ AC, गाड़ियाँ, फैक्ट्री, कंस्ट्रक्शन साइट्स इत्यादि है, पर प्रदुषण के नाम पर सिर्फ हिन्दुओ के त्योहारों को टारगेट करने का फैशन सा चल पड़ा है, इसाई नव वर्ष पर भी पटाखे फोड़े जाते है, फिल्मो के सेट पर भी पटाखे फोड़े जाते है, पर अपराधी सिर्फ वो है जो दिवाली पर पटाखे फोड़ते है

Loading...

Related Articles

error: Content is protected !!
Close