जिहादताज़ा खबर

दिवाली से मुझे जुवाबाजी की याद आती है, मेरे लिए दिवाली मतलब जुवाबाजी : आमिर खान

Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Google+
Google+

इसे शेयर जरुर करें
Aamir Khan on diwali
Aamir Khan on diwali

Aamir Khan on diwali : फिल्म्बाज आमिर खान कुछ भी अनजाने में नहीं करते, वो सबकुछ बड़ा ही सोच समझ कर करते है, और वो जानते है की भारतीयों और खासकर हिन्दुओ को कितना भी कोसो, वो उल्टा और हमारी फिल्म देखेंगे, क्यूंकि भारतीयों में सेकुलरिज्म इतना है की उन्हें गाली भी मीठी लगती है 

भारत को असुरक्षित देश, रहने लायक नहीं है भारत ऐसा बता चुके आमिर खान ने अब हिन्दुओ के सबसे बड़े त्यौहार दिवाली को लेकर फिर एक आपत्तिजनक बयान दिया है, वो जानते है की ऐसा बयान सेक्युलर हिन्दुओ को खूब खुश करेगा, क्यूंकि सेक्युलर हिन्दू अपने ही देश और धर्म से नफरत करते है


आमिर खान ने कहा की – मुझे दिवाली को लेकर एक चीज याद आती है और वो है जुवाबजी, आमिर खान के मुताबिक दिवाली मतलब जुवाबजी, दिवाली पर जुवा खेला जाता है, ये ही दिवाली की पहचान है

loading...

आमिर खान ये ये बयान आज ही 8 नवम्बर 2018 को दिया है, दिवाली कल थी, और आज आमिर खान ने ये बयान दिया है, उन्होंने कहा की – मेरे लिए दिवाली का मतलब है जुवाबजी, दिवाली पर मैं एक काम करता हूँ वो है जुवा, मुझे दिवाली पर जुवा खेलना पसंद है, और मैं उसे एन्जॉय करता हूँ, मुझे पोकर भी पसंद है, ताश पसंद है

आमिर खान ने हिन्दुओ के सबसे बड़े त्यौहार को जुवाबजी से जोड़ दिया

वैसे इस देश में हिन्दू दिवाली को भगवान् राम की अयोध्या वापसी, अच्छाई की बुराई पर जीत, अन्धकार पर प्रकाश की जीत के रूप में मनाते है, दिवाली को एक शुभ त्यौहार के रूप में याद करते है, पर आमिर खान ने हिन्दू त्यौहार को जुवाबजी से जोड़ दिया

loading...

आमिर खान ने हिन्दुओ पर जान कर कटाक्ष किया, वो जानते है की हिन्दू एक ऐसा समाज बन गया है जिसका ब्रेन वाश किया जा चूका है और हिन्दुओ पर जितना थूको, वो उसे मिठाई समझकर और चाटते है, कुछ हिन्दू भले आपका विरोध करेंगे, पर अब ज्यादातर हिन्दू सेक्युलर ही है, और उनको दिवाली पर ये कटाक्ष अच्छा लगेगा

Aamir Khan on diwali : वैसे ये वो आमिर खान है जो की हलाला पर तो नहीं बोलते पर हिन्दुओ की प्रथाओं पर कार्यक्रम बनाते है, इनको हिन्दू त्यौहार मतलब जुवाबजी लगता है

Loading...

Related Articles

error: Content is protected !!
Close